इस बोर्ड गठन के प्रस्ताव पर सरकार करेगी विचार

गुरुग्राम, 30 नवम्बर
केंद्रीय भारी उद्योग एवं संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि आइकेट की ओर से आयोजित न्यू जेन मोबिलिटी सम्मिट-2019 में नेशनल आटोमोटिव बोर्ड के गठन का जो प्रस्ताव सामने आया है, उस पर भारत सरकार गंभीरता से विचार करेगी. उन्होंने आश्वस्त किया कि आइकेट की ओर से इस संबंध में जो प्रस्ताव उनके मंत्रालय को भेजा जाएगा, उसको लेकर केंद्र सरकार में हाई लेवल पर इस पर विचार किया जाएगा.

मेघवाल शुक्रवार देर रात मानेसर स्थित आइकेट सेंटर में आयोजित न्यू जेन मोबिलिटी समिट 2019 के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि पूरी कोशिश होगी कि इस प्रकार की कोई राष्ट्रीय संस्था का गठन हो, जिसकी जिम्मेदारी ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री से संबंधित सभी पहलुओं पर विचार करने और विभिन्न मंत्रालयों के साथ कोआर्डिनेशन स्थापित करने की हो. इससे इस इंडस्ट्री के लिए नीति निर्धारित करना और उन पर निर्धारित समय सीमा में अमल कराना संभव होगा.

मुख्य अतिथि के रूप में मेघवाल ने कहा कि तीन दिवसीय इस अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन के दौरान अलग-अलग विषयों के विशेषज्ञों ने 100 से अधिक टेक्निकल पेपर का प्रदर्शन किया. उस दौरान जो विचार विमर्श किया गया, वास्तव में यह देश के हित में है. इससे देश की ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजन को साकार करने में मदद मिलेगी. भारत सरकार इ-मोबिलिटी को बढ़ावा देना चाहती है और सरकार की ओर से वर्तमान बजट में फैब इंडिया के लिए 10,000 करोड़ के बजट का प्रावधान किया गया है.

मेघवाल ने कहा कि केंद्र सरकार की सभी बड़ी कंपनियों को अलग-अलग क्षेत्रों में इलेक्ट्रिकल चार्जिंग स्टेशन की स्थापना करने की सलाह दी गई है. साथ ही ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री को न्यू टेक्नोलॉजी अडॉप्ट करने की दृष्टि से और भी अन्य प्रकार के सहयोग केंद्र सरकार की ओर से मिलेंगे.

चौथी औद्योगिक क्रांति में ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री का होगा बड़ा योगदान
केंद्रीय भारी उद्योग राज्यमंत्री ने उद्यमियों को आश्वस्त किया की चौथी औद्योगिक क्रांति में जब देश के प्रधानमंत्री मोदी ने देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की आर्थिक शक्ति बनाने का लक्ष्य रखा है तो इसमें ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री का भी बड़ा योगदान होगा. इसलिए ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री इस बात के लिए आश्वस्त रहे कि विकास के इस प्रयास में उन्हें भी साथ लिया जाएगा और उनके विकास लिए भी आवश्यक कदम उठाए जाएंगे. उन्होंने आश्वस्त किया कि रिसर्च एंड डेवलपमेंट की दृष्टि से पैसे की कोई कमी नहीं रहने दी जाएगी.

2021 में होने वाले न्यू जेन मोबिलिटी समिट का नाम है अमृत महोत्सव
मेघवाल ने बताया कि आगामी प्रस्तावित न्यू जेन मोबिलिटी समिट-2021 देश की आजादी के 75 वर्ष में आयोजित होगा, जिसे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमृत महोत्सव का नाम दिया है. उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए और खुशी की बात होगी कि 75वें वर्ष यानी अमृत महोत्सव के दौरान आइकेट जैसी अंतरराष्ट्रीय संस्था का भी इस आयोजन के माध्यम से बड़ा योगदान होगा.संभव है कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हों.

समापन समारोह को होंडा मोटर्स से यूसी मोरिया, आईओसीएल के डायरेक्टर एसएस रामकुमार, जेबीएम ग्रुप के कार्यकारी डायरेक्टर निशांत आर्या, होंडा कार्स इंडिया लिमिटेड के प्रवीण परांजपे एवं वोल्वो इंडिया लिमिटेड के चार्ल्स फ्रंप ने भी संबोधित किया.

हिन्दुस्थान समाचार/ईश्वर

Leave a Reply