गोपालगंज सदर अस्पताल में मरीजों को नहीं मिल रही सुविधा

गोपालगंज, 02 जुलाई. जिले के सदर अस्पताल की व्यवस्था इन दिनों ठीक नहीं है. यह हम नहीं कह रहे बल्कि गोपालगंज सदर अस्पताल खुद इसका गवाह है. सुबह आठ बजे से लेकर दोपहर के दो बजे तक चलने वाले ओपीडी में 9 बजे तक डॉक्टर ही नहीं पहुंचते हैं.

मंगलवार को भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिला. दरअसल, इलाज कराने आए मरीजों को घंटों लाइन में खड़ा होना पड़ा. इसके अलावा कई बार तो दूर से आए मरीजों का इलाज भी नहीं हो पाता है. सदर अस्पताल में करीब 9 बजे महिला डॉक्टर ममता पहुंचीं लेकिन मरीजों के भीड़ को देखे बिना ही अपने कक्ष से बाहर चली गईं.

गर्मी के कारण महिला मरीज उनके इंतजार में घंटों फर्श पर बैठी रहीं. भीड़ को देखते हुए दो महिलाओं के लिए और एक पुरूष के लिए रजिस्ट्रेशन काउंटर खोला गया. रजिस्ट्रेशन काउंटर सुबह 8:30 में खुला और दोपहर एक बजे तक 880 मरीजों का निबंधन हुआ.

हालांकि मरीजों की इतनी भीड़ थी कि हंगामा शुरू हो गया. इसके कारण चिकित्सक अपने कक्ष से बाहर निकल गए. गर्भवती महिला निशा ने कहा कि मैं सुबह अस्पताल आई थी लेकिन डॉक्टर के देर से आने में इलाज में देरी हुई.

मरीजों के भीड़ को देखकर एक महिला डॉक्टर बाहर चली गई. पैथोलॉजी विभाग, चर्म एवं गुप्त रोग विभाग, शिशु विभाग में एक भी चिकित्सक नहीं पहुंचे. इन विभागों में काफी संख्या में मरीज अपने परिजनों के साथ चिकित्सक का इंतजार करते रहे. करीब 9.30 बजे के बाद एक-एक कर चिकित्सक ओपीडी पहुंचने लगते हैं.

मरीजों ने बताया कि सुबह से ही काउंटर से रजिस्ट्रेशन कराकर चिकित्सक के आने का इंतजार कर रहे हैं. ओपीडी के गेट पर खड़े मरीज नवीता देवी, रिंकी देवी, हरिकिशोर शर्मा, रूपा कुमारी, राजेंद्र सिंह, दयानंद शर्मा, मो रुस्तम आदि ने बताया कि हमलोग सुबह आठ बजे से ही यहां लाइन में लग कर चिकित्सक का इंतजार कर रहे हैं.

9 बज गये हैं, अभी तक डॉक्टर साहब का पता नहीं है. इन सबके इतर सदर अस्पताल में मरीजों को मुफ्त में मिलने वाली दवाइयां भी उपलब्ध नहीं हैं. दवा ले रहे कैथवलिया गांव के अनिश कुमार ने बताया कि ज्यादातर दवाइयां मरीजों को बाहर से लेना पड़ता है.

सदर अस्पताल के अधीक्षक डॉ. पीसी प्रभात ने बताया कि ओपीडी और इमरजेंसी वार्ड में डॉक्टरों के ड्यूटी चार्ट दीवार पर चिपका दिया गया है. चार्ट के अनुसार ड्यूटी करने के लिए समय पर आने का आदेश दिया गया है.

देर से आने की जानकारी मुझे नहीं है. अगर ऐसी बात है तो इसकी जांच कराई जाएगी. मरीजों को समय पर इलाज मिले इसका ख्याल रखा जाएगा. हिन्दुथान समाचार/अखिला

Leave a Comment

%d bloggers like this: