आज का Doodle महान साहित्यकार अमृता प्रीतम के नाम, जानें उनके बारे में बड़ी बातें

नई दिल्ली. भारत की महान साहित्यकार अमृता प्रीतम (Amrita Pritam) का आज जन्मशताब्दी वर्ष है. गूगल ने इस डूडल (Doodle) को बेहद खास अंदाज में बनाकर अमृता प्रीतम को याद किया है.

गूगल (Google) की ओर से आज होमपेज पर बनाए गए डूडल में भी उनकी आत्मकथा काला गुलाब का ही संदर्भ लिया गया है.

अमृता प्रीतम का जन्म 31 अगस्त साल 1919 को पंजाब के गुजरांवाला में हुआ था. उनका बचपन लाहौर की गलियों में बीता था.

अमृता ने काफी कम उम्र से ही लिखना शुरू कर दिया था. 20वीं सदी की सबसे महान पंजाबी कवयित्री कही जाने वाली अमृता प्रीतम ने 16 साल की उम्र में अपना पहला संग्रह प्रकाशित किया था.

उन्होंने कुल मिलाकर लगभग सौ से ज्यादा किताबें लिखी हैं, जिनमें उनकी चर्चित आत्मकथा ‘रसीदी टिकट’ भी शामिल है. अमृता प्रीतम उन साहित्यकारों में थीं जिनकी लिखी किताबों का कई भाषाओं में अनुवाद हुआ.

अपने अंतिम दिनों में अमृता प्रीतम को भारत का दूसरा सबसे बड़ा सम्मान पद्मविभूषण (Padambibhusan) भी प्राप्त हुआ. उन्हें साहित्य अकादमी पुरस्कार से पहले ही मिल चुका था.

ब्रिटिश भारत के गुजरनवाला में जन्मी प्रीतम को उनकी कविता ‘आज आंखां वारिस शाह नू’ के लिए भी याद किया जाता है, जिसमें उन्होंने 1947 भारत-पाकिस्तान बंटवारे का मार्मिक चित्रण किया है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: