शेयर बाजार में छाई ये कंपनी, 103 रुपए में बेच रही है कोरोना की दवा

corona
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. कोरोना से लड़ने के लिए ग्लेनमार्क फार्मा ने दो दिन पहले  भारत में FabiFlu को लॉन्च किया था. ये कोरोनावायरस की पहली ओरल Favipiravir अप्रूव्ड दवा है. इस दवा के आने के बाद तो जैसे ग्लेनमार्क के शेयरों ने आसमान छू लिया. ग्लनेमार्क के शेयरों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है.

 सोमवार को शुरूआती दौर में ग्लनेमार्क फार्मा के शेयरों में 30 फीसदी तक तेजी देखने को मिली. जिसके बाद बाजार बंद होते-होते ग्लेनमार्क फार्मा के शेयर सोमवार को 40 फीसदी तक बढ़कर 572.70 रुपए तक चले गए जो पिछले 52 हफ्तों का सबसे हाइएस्ट लेवल है. इस खबर के बाद से कंपनी के शेयर को लेकर निवेशकों का सेंटीमेंट मजबूत हो गया और शेयर में जमकर खरीददारी देखने को मिली है.

कंपनी का मार्केट कैप 3,800 करोड़ रुपये से बढ़कर 14,800 करोड़ रुपये के स्तर पर चला गया. बीते तीन महीनों में ग्लेनमार्क के स्टॉक्स में 180 फीसदी की तेजी देखने को मिली है. सोमवार को कारोबार के अंत में ग्लेनमार्क का मार्केट कैप 14,668.76 करोड़ रुपये पर रहा. इस प्रकार कंपनी मार्केट कैप में 10,868.76 करोड़ रुपये का इजाफा हुआ है.

आपको बता दें कि शुक्रवार को कंपनी ने ड्रग रेग्युलेटरी DCGI से Favipiravir दवा को भारत में लॉन्च करने के​ लिए अनुमति प्राप्त की था. कंपनी ने इस दवा को Fabiflu नाम से बाजार में लॉन्च किया है, जिसका इस्तेमाल मामूली लक्षण वाले कोविड-19 मरीजों के लिए होगा.

ग्लेनमार्क की FabiFlu कोरोनावायरस की पहली ओरल Favipiravir अप्रूव्ड दवा है. अभी इसे कुछ सेंटर पर ही लॉन्च किया गया है. भारत की ड्रग रेगुलेटर कंपनी DGCI ने कोरोनावायरस के इलाज में एंटी वायरल दवा के सीमित इस्तेमाल की इजाजत दी है.

यह दवा 200 एमजी टैबलेट के रूप में उपलब्ध है. एक टैबलेट की कीमत 103 रुपये है. 34 टैबलेट के एक स्ट्रीप की कीमत 3,500 रुपये रखी गई है. इसके दवा की डोज 14 दिन के लिए होगी.