आखिर क्या हुआ ऐसा कि सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए गंभीर

14 फरवरी 2019 का वो दिन कोई भी भारतीय कैसे भूल सकता है जब जब जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने हमला किया था. उस हमले में 40 भारतीय जवान शहीद हो गए थे तो पूरा देश गुस्से से उबल उठा था. चारो तरफ लोग मोंबत्तीया हाथ में लेकर शहीदों को श्रद्धांजली दे रहे थे और पाकिस्तान को उसके घर में घुसकर सबक सिखाने की बात कर रहे थे.

इस हमले के बाद विपक्षी पार्टीयां भी सरकार पर सवाल खड़े कर रही थी. तभी पूर्व भारतीय क्रिकेटर और मौजूदा बीजेपी से सांसद गौतम गंभीर ने कहा था कि पाकिस्तान के साथ होने वाले सभी मैच रोक देने चाहिये. और एक मांग थी वर्ल्डकप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच ना खेला जाए. लेकिन वही गौतम गंभीर जब भारत और पाकिस्तान के बीच हुए मैच में कमेन्ट्री करते दिखे तो लोगों ने उन्हे खुब ट्रोल किया.

आपको बता दें कि गौतम गंभीर ने कहा था कि क्रिकेट से बड़ा देश नहीं होता है. अगर ऐसी परिस्थियो में हमे वल्डकप में पाकिस्तान के मैच का बॉयकॉट भी करना पडता है तो कर देना चाहिए. गंभीर के इस बयान पर काफी बवाल हुआ था, उसके बाद पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद आफरीदी ने इस पर टिप्पणी करते हुए कहा था की ‘क्या कोई समझदार व्यक्ति ऐसा कहेगा? क्या पढ़े-लिखे लोग इस तरह की बातें करते हैं? गौतम गंभीर को अक्ल नहीं है फिर भी लोगों ने उन्हें वोट दे दिया.’

अब गंभीर ने एक ट्विट करते हुए कहा की वो समय आ गया है जब भारत और पाकिस्तान आमने सामने होंगे,और पूरे देश को इसका इंतज़ार था. अब रविवार को जब गौतम गंभीर कमेंट्री कर रहे थे. कमेन्ट्री करते देख सोशल मीडिया में सवालों की झड़ी लग गई. लोगों ने उनसे सवाल किया कि क्या हुआ उस बायकॉट का जो आपने पूलवामा हमले के समय किया था.

लोगो ने सवाल किया कि उनके जिम्मे एक लोकसभा है, दस विधानसभा हैं लेकिन वह इन सभी बातों को छोड़ कमेंट्री कर पैसा कमा रहे हैं.

%d bloggers like this: