एक के बाद एक बच्चियों के साथ रेप से थर्राया यूपी, बलरामपुर में भी हाथरस जैसी हैवानियत

1
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के हाथरस में गैंगरेप मामले को लेकर देशभर में गुस्सा है आक्रोश है. हाथरस में 19 साल की लड़की के साथ हुए गैंगरेप ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है. अभी हाथरस मामले की आंच ठंडी भी नहीं हुई कि यूपी के बलरामपुर में दलित युवती के साथ हैवानियत जैसी घटना सामने आई है. 22 साल की दलित छात्रा के साथ गैंगरेप के बाद उसकी कमर और दोनों पैर तोड़ दिए गए.

हाथरस से करीब 500 किमी की दूरी पर 22 वर्षीय दलित युवती के साथ भी दरिंदों ने गैगरेप किया फिर उसकी बुरी तरह से पिटाई की, जिससे उसकी मौत हो गई. बलरामपुर की युवती की मौत उस वक्त हो गई, जब उसे इलाज के लिए लखनऊ अस्पताल लाया जा रहा था. दरिदों ने कमर और पैर तोड़ दिए थे. दो लोगों पर एफआईआऱ दर्ज हुई है.

घटना उस समय हुई जब छात्रा एक कॉलेज में एडमिशन के लिए गयी हुई थी. एडमिशन लेने के लिए निकली छात्रा का गांव के ही कुछ दरिंदों ने किडनेप कर गैंगरेप किया. जब वो शाम तक घर नहीं पहुंची तो घरवाले परेशान हो गए. घटना के बाद सड़क पर लावारिस हालात में दरिंदे उसे छोड़कर फरार हो गए. एक रिक्शे वाले ने उसे घर पहुंचाया.

24 घंटों में देश के अलग-अलग हिस्सों से ऐसे ही कई मामले सामने आएं हैं. यूपी से लेकर राजस्थान और मध्यप्रदेश से गैंगेरेप की ऐसी घटनाएं सामने आई हैं जिससे हर किसी की रूह तक कांप जाएं. बीते 24 घंटे के अंदर आजमगढ़, बुलंदशहर और फतेहपुर में रेप की वारदातें सामने आई हैं. डराने वाली बात यह है कि तीनों ही केस में बच्चियों के साथ दरिंदगी की गई है.

मध्य प्रदेश के खरगौन में खेत पर रखवाली के लिए गई नाबालिग युवती के साथ तीन लोगों ने गैंगरेप किया. राजस्थान के सवाई माधोपुर में एक नाबालिग लड़की के साथ रेप की घटना सामने आई. राजस्थान के ही बारां में दो युवतियों ने दो युवकों पर रेप करने का आरोप लगाया है. राजस्थान के ही अजमेर में एक महिला के साथ कुछ दोस्तों ने गैंगरेप किया है.

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में दरिंदगी की सारी हदें पार हो गईं. यहां एक युवक ने आठ साल की मासूम के साथ घिनौनी हरकत की. आरोपी युवक को अब गिरफ्तार कर लिया गया है, लेकिन मामले की जांच की जा रही है.

हाथरस की बेटी से गैंगरेप और मौत मामले पर राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने एक्शन लिया है. राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने उत्तर प्रदेश सरकार, सूबे के पुलिस मुखिया को इस मामले में नोटिस जारी किया है. आयोग ने इस मामले में जवाब दाखिल करने के लिए महज चार सप्ताह का वक्त दिया है. बुधवार को अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

19 साल की दलित लड़की के साथ कुछ दिनों पहले गैंगरेप की घटना हुई थी, उसकी जीभ काट दी गई थी और उसकी रीढ़ की हड्डियां तोड़ दी गई थीं. जिसके बाद वह दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में जिंदगी मौत से जूझ रही थी. करीब 15 दिनों बाद मंगलवार को पीड़िता की मौत हो गई.