छत्तीसगढ़ः एक बार फिर से विष्णुदेव साय को मिली प्रदेश की कमान

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आज प्रदेश स्तर पर दो राज्यों में काफी बड़ा बदलाव किया. पहला बदलाव उन्होंने दिल्ली में किया, यहां उन्होंने मनोज तिवारी को हटाकर आदेश गुप्ता को दिल्ली बीजेपी की कमान सौंप दी. तो वहीं दूसरा बदलाव छत्तीसगढ़ में हुआ.

छत्तीसगढ़ में भी प्रदेश अध्यक्ष को आज बदल दिया गया. राष्ट्रीय नेतृत्व ने छत्तीसगढ़ में एक बार फिर से विष्णुदेव साय पर भरोसा जताया है. पार्टी नेताओं से चर्चा के बाद छत्तीसगढ़ प्रदेश अध्यक्ष पद पर पूर्व केंद्रीय मंत्री विष्णुदेव साय के नाम की मुहर लगा दी गई. वे इससे पहले भी प्रदेश में पार्टी की कमान संभाल चुके हैं.

रमन सिंह के करीबी हैं साय

साय को रमन सिंह का करीबी माना जाता है. छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में जिस तरह से पार्टी की हार हुई है, उससे कार्यकर्ताओं में काफी निराशा है. और इसी निराशा को दूर करने के लिए राष्ट्रीय नेतृत्व ने साय पर पूरा भरोसा जताया है. उनकी नियुक्ति अगले विधानसभा चुनावों तक के लिए की गई है.

पंचायत से केंद्रीय मंत्री तक का सफर

जशपुर जिले में किसान परिवार में जन्में विष्णुदेव साय काफी मिलनसार स्वभाव के व्यक्ति हैं. उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में पंचायत से केंद्रीय मंत्री तक का सफर पूरा किया. उन्होनें रायगढ़ लोकसभा में 20 साल तक एकछत्र राज किया. 2014 में मोदी सरकार की कैबिनेट में जगह बनाई. इसके पीछे उनकी बेदाग छवि और मिलनसार व्यक्तित्व ही प्रमुख माना जाता था.

साय को संगठन के साथ ही आरएसएस का भी करीबी माना जाता है। वे इससे पहले भी 2 बार प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं. इस तरह से वे तीसरी बार प्रदेश की कमान संभालेंगे. इससे पहले 2006 से 2009 और फिर 2013 तक पार्टी की कमान संभाल चुके हैं. वे 1999 से 2014 तक रायगढ़ से सांसद रहे हैं. मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में मंत्री भी रहे.

Leave a Reply

%d bloggers like this: