पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, प्रधानमंत्री ने जताया दुख

jaswant-singh
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का रविवार को निधन हो गया. 82 वर्षीय सिंह पिछले छह साल से कोमा में थे. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिवंगत नेता के पुत्र मानवेंद्र सिंह को फोन कर अपनी संवेदनाएं प्रकट कीं. वहीं ट्वीट कर दुख जताते हुए एक सैनिक और फिर बाद में राजनेता के रूप में उनकी देश सेवा को याद किया.

दिल्‍ली के आर्मी अस्‍पताल ने रविवार को बयान जारी कर कहा कि, पूर्व केंद्रीय मंत्री मेजर (सेवानिवृत्त) जसवंत सिंह का आज सुबह 6.55 बजे निधन हो गया. उन्‍हें जून माह में यहां भर्ती कराया गया था. उनका सेप्सिस के साथ मल्‍टीऑर्गन डिसफंक्‍शन सिंड्रोम का उपचार चल रहा था. उन्‍हें आज सुबह कार्डियक अरेस्‍ट आया. वह कोविड निगेटिव थे.

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट संदेश में कहा, जसवंत सिंह ने पहले एक सैनिक के रूप में और बाद में राजनीति के साथ अपने लंबे जुड़ाव के दौरान देश की सेवा पूरी मेहनत से की. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान उन्होंने महत्वपूर्ण विभागों को संभाला और वित्त, रक्षा और बाहरी मामलों की दुनिया में एक मजबूत छाप छोड़ी. उनके निधन से दुखी हूं.

मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा, जसवंत सिंह को राजनीति और समाज के मामलों पर उनके अनूठे दृष्टिकोण के लिए याद किया जाएगा. उन्होंने भाजपा को मजबूत बनाने में भी योगदान दिया. मैं हमेशा उनके साथ हमारी बातचीत को याद रखूंगा. उनके परिवार और समर्थकों के प्रति संवेदना. ओम शांति.

उल्लेखनीय है कि जसवंत सिंह 1960 में सेना में मेजर के पद से इस्तीफा देकर राजनीतिक में आए थे. वह पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्‍व वाली एनडीए सरकार में केंद्रीय मंत्री थे. उन्होंने 1996 से 2004 के दौरान रक्षा, विदेश और वित्‍त जैसे मंत्रालयों की जिम्मेदारी संभाली. हालांकि भाजपा ने 2014 के लोकसभा चुनाव में उन्हें टिकट नहीं दिया था. इससे नाराज होकर उन्होंने पार्टी छोड़ दी थी. उसी साल उन्‍हें सिर में गंभीर चोटें आई, जिसके बाद से वह कोमा में थे.

हिन्दुस्थान समाचार/सुशील