कोच पुरुषोत्तम राय का निधन, आज मिलने वाला था द्रोणाचार्य अवॉर्ड

purushottam rai
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

एथलेटिक्स कोच पुरुषोत्तम राय का आज बेंगलुरु में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. 79 साल के पुरुषोत्तम राय को आज खेल दिवस पर वर्चुअल अवॉर्ड समारोह में द्रोणाचार्य अवॉर्ड मिलना था. एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने जानकारी दी है कि पुरुषोत्तम राय ने 28 अगस्त की शाम को नेशनल स्पोर्ट्स अवॉर्ड की ड्रेस रिहर्सल में हिस्सा लिया था.

बता दें कि पुरुषोत्तम राय ने 1987 की विश्व एथेलेटिक्स चैम्पियनशिप, 1988 की एशियन ट्रैक एंड फील्ड चैंपियनशिप और 1999 के सैफ गेम्स सहित कई टूर्नामेंट्स के लिए भारतीय टीम को भी कोचिंग दी. राय 2001 में भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) के कोच के पद से रिटायर हुए थे. उन्होंने वंदना राव, अश्विनी नाचप्पा, प्रमिला अयप्पा, रोजा कुट्टी, एमके आशा, बी शायला, मुरली कुट्टन जैसे बड़े एथलीटों को कोचिंग दी थी.
खास बात तो ये है कि उन्होंने नैशनल ही नहीं इंटरनैशनल एथलीट्स को भी ट्रेन किया था. राय सर्विसेस, युवा सशक्तीकरण और खेल विभाग (DYES) और भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) से कोच के तौर पर जुड़े रहे. एथलेटिक्स में कर्नाटक की ओर से यह सम्मान हासिल करने वाले वो तीसरे शख्स हैं.

खेल जगत के लोगों ने जताया शोक 

खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने पुरुषोत्तम राय के निधन पर शोक जताया है. रिजिजू ने ट्वीट किया,”भारत ने अनुभवी एथलेटिक्स कोच श्री पुरुषोत्तम राय को खो दिया. राय को आज वर्चुअल नेशनल स्पोर्ट्स अवार्ड समारोह में द्रोणाचार्य पुरस्कार मिलना था. उनके योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा.”
वहीं एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष आदिल सुमारिवाला ने भी कोच पुरुषोत्तम राय के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है उन्होंने कहा कि इस घटना से पूरा एसोसिएशन दुखी है. उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी एथलेटिक्स को दी थी. हम उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं.
पूर्व लॉन्ग-जंपर अंजू बेबी जॉर्ज ने कहा, ‘वह अच्छे कोच था, जिनसे ओलंपियनों सहित कई शीर्ष भारतीय एथलीटों ने प्रशिक्षण लिया था. पुरस्कार पाने से ठीक एक दिन पहले उनका निधन दुखद घटना है.’