जब अजीत जोगी की वजह से लड़के-लड़की की टूट गई थी सगाई, पढ़िए ये रोचक किस्सा

नई दिल्ली. छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी का आज निधन हो गया है. अजीत जोगी का 74 साल की उम्र में निधन हो गया. अजीत जोगी को कार्डियक अरेस्ट के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अजीत जोगी पिछले 20 दिनों से अस्पताल में भर्ती थे. काफी दिनों से अजीत जोगी की हालत नाजुक बनी हुई थी. अजीत जोगी छत्तीसगढ़े के पहले सीएम रहे. अजीत जोगी के निधन पर राज्य में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है.

उनके निधन की जानकारी उनके बेटे अमित जोगी ने दी. उन्होंने ट्वीटर पर लिखा कि आज उनके सिर से उनके पिता का साया उठ गया..उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा……..

आदिवासी समाज से आए अजीत जोगी– बिलासपुर के पेंड्रा रोड में जन्मे अजीत जोगी शुरू से ही राजनीति में नहीं रहे हैं. आदिवासी समाज से आने वाले अजीत जोगी गांव की गलियों में नंगे पांव पले बढ़े और मिशनरी की मदद से शिक्षा पूरी कर पहले इंजीनियरिंग फिर यूपीएससी की परीक्षा पास कर कलेक्टर बने.

कलेक्टर बन किया अनुभव हासिल- प्रशासनिक मुखिया के तौर पर अजीत जोगी ने खूब राजनीतिक अनुभव हासिल किया. ऐसे में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन सिंह की नजर उन पर पड़ी और जोगी इस दिग्गज कांग्रेसी के करीब आ गए. अजीत जोगी पूर्व पीएम राजीव गांधी के भी करीबी माने जाते थे.

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे अजीत जोगी ने कुछ ही साल पहले पार्टी छोड़कर नया दल बनाया था. 2018 में हुए राज्य विधानसभा चुनाव में उन्होंने अपनी नई पार्टी छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस (जे) के बैनर तले चुनाव लड़ा. हालांकि पार्टी का प्रदर्शन औसत ही रहा.

अजीत जोगी की वजह से टूट गई थी लड़के-लडकी की सगाई- अजीत जोगी थे तो आदिवासी समाज से थे, लेकिन अनूसुचित श्रेणी में आने वाला सतनामी समाज भी उनको अपना नेता मानता था. खबरों के मुताबिक एक खबर अखबार में छपी थी की अजीत जोगी की वजह से सगाई टूट गई.

दरअसल बात ये थी कि लड़के लड़के की सगाई की रस्मों के बीच लड़का पक्ष और लड़की पक्ष में बहस हो गई थी कि चुनाव में किसका पलड़ा भारी है. लड़की वाले ठहरे थे अजीत जोगी के पक्षधर और बस फिर क्या था काफी कहासुनी के बाद ये रिश्ता टूट गया.गांव वालों ने काफी बीच बचाव किया कि रिश्ता बच जाए पर ये हो न सका..

लड़की वालों ने कहा कि जो परिवार अजीत जोगी का विरोधी है वे उनके साथ रिश्ता नहीं करेंगे. गांव वालों के बीच-बचाव से दोनों परिवारों का झगड़ा तो टल गया, लेकिन सगाई टूट गई.

नौकरशाह से राजनेता बने जोगी छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री थे. जोगी नवंबर 2000 से नवंबर 2003 तक तत्कालीन कांग्रेस सरकार में राज्य के मुख्यमंत्री रहे. हालांकि, साल 2016 में जोगी ने कांग्रेस से रास्ते अलग कर लिए थे. बाद में उन्होंने कांग्रेस छोड़ कर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ पार्टी बनाई थी.

Leave a Reply

%d bloggers like this: