कोहरे से कानपुर की दृश्यता में आयी भारी कमी, रेंगते रहे वाहन

बदले मौसम के मिजाज से एक बार फिर बढ़ी शीतलहरी

कानपुर, 18 जनवरी (हि.स.). जिले में दो दिन में हुई 60 मिमी. बारिश के बाद मौसम का मिजाज फिर तेजी से बदल रहा है और शनिवार को कानपुर कोहरे की चादर से पूरी तरह ढक गया. कोहरे के चलते दृश्यता इस कदर कम हो गयी कि 10 कदम दूर भी कुछ नहीं दिख रहा था.

शहर में तो रोड़ लाइट से कुछ राहत रही पर हाइवे सहित ग्रामीण क्षेत्रों में वाहन पूरी तरह से रेंगते रहे. मौसम विभाग का कहना है कि तेज हवाओं के चलने से शीतलहरी अभी आगामी दिनों में भी बरकरार रहेगी.

पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने से बीते दो दिनों में रिकार्ड 68 मिलीमीटर बेमौसम बारिश हुई और एक बार फिर मौसम का मिजाज बदल गया. शनिवार को सुबह से ही कानपुर परिक्षेत्र के आसमान में कोहरा पूरी तरह से छाया रहा.

कोहरा छाये रहने से विजीबिल्टी (दृश्यता) लगभग गायब हो गयी और वाहनों के पहियों में ब्रेक लग गया. इस वजह से वाहन चालकों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. भोर पहर जीरो विजीबिल्टी रही और सूरज निकलने पर इसमें सुधार हुआ. दोपहर होते-होते कोहरा छटने लगा तब जाकर विजीबिल्टी एक किमी के करीब पहुंची. वहीं तापमान गिरने से ठंड में भी खासा इजाफा हो गया. सुबह सड़कों पर रफ्तार थमी रही तो लोग भी टहलने के लिए घरों से बाहर नहीं निकले. आसमान में बदली से सूर्य की किरणें धरती तक न पहुंचने से लोग गलन से निजात पाने को अलाव के आसपास ही घेरा जमाए रहे.

चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) के मौसम वैज्ञानिक डा. नौशाद खान ने शनिवार को बताया कि फिलहाल बारिश के आसार नहीं है, लेकिन बदली छाए रहने की पूरी संभावना है और कोहरा भी छाया रहेगा.

मौसम वैज्ञानिक ने बताया कि शुक्रवार को अधिकतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 13.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. इस दिन अधिकतम आर्द्रता 96 और न्यूनतम आर्द्रता 88 फीसद मापी गई थी. हवा की गति आठ किलोमीटर प्रतिघंटा रही है.

वहीं शनिवार की सुबह कोहरा पड़ने से एक किमी की विजीबिल्टी दर्ज की गई, जबकि न्यूनतम तापमान 10.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि बदली छाए रहने से गलन बनी रहेगी.

हिन्दुस्थान समाचार/अजय/मोहित

Leave a Reply

%d bloggers like this: