वर्ल्ड कप में भारत से हर बार हारा पाक…ये 5 मौके रहे खास

आज रविवार को मैन्चेस्टर में भारत और पाकिस्तान दोनों पड़ोसी देशों के बीच महामुकाबला होना है. आज का मैच दोनों ही देशों के क्रिकेट फैंस के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं.

वर्ल्ड कप 2019 में दोनों के बीच आज पहला मुकाबला है. मगर आज तक हुए कई विश्वकप में दोनों टीमें कई बार आमने सामने हो चुकी हैं. इन सभी मैचों में भारत का ही पलड़ा भारी रहा है. वर्ल्ड कप की बात करें तो आजतक के इतिहास में दोनों टीमें 6 बार आमने सामने आ चुकी हैं.

इन 6 मैचों में पांच मैचों में काफी दिलचस्प नजारे भी देखने को मिले जो आज भी भारतीयक्रिकेट प्रेमी याद करते हैं. आज हम आपको वहीं 5 मौकों के बारे में बताएंगे.

सबसे पहला मौका 1992

भारत आर पाक सबसे पहले 1992 में आमने सामने आए थे. ये मैच सिडनी में हुआ था. यहां क्रिज पर पाकिस्तान के बल्लेबाज जावेद मियांदाद थे. उन्हें आउट करने के लिए भारतीय फील्डर ने अपील करने की झडी़ लगा दी.

इस दौरान भारत के विकेट किपर किरण मोरे थे, जो हर मौके पर मियांदाद को आउट करने की अपील करते दिखे. इस मैच में मियांदाद इन अपीलों से इतने परेशान हो गए कि इस व्यवहार की शिकायत उन्होंने अंपायर से भी की थी. इसके बाद भी जब भारत के खिलाड़ी नहीं मानें तो मियांदाद क्रीज पर ही बंदरो की तरह उछलने लगे और भारतीय खिलाड़ी की नकल उतारी.

1996 में भी दिखा नजारा

बेंगलुरू में क्वार्टर फाइनल मैच में दोनों टीमें भीडीं. इस दौरान टारगेट का पीछा करते हुए पाक के ओपनर आमिर सोहेल ने वेंकटेश प्रसाद की गेंद पर चौका मारा. उन्होंने गेंदबाज को इशारा करते हुए कहा ति मैं दोबारा ऐसा चौका मारुंगा.

मगर अगली गेंद पर वेंकटेश ने सोहेल को बोल्ड कर दिया. उन्होंने गुस्से में सोहेल को वापस पवेलियन लौटने का कहा.

2003 में सहवाग और अख्तर भीडे़

इस मैच में शोएब अख्तर के सामने क्रिज पर थे भारत की सलामी जोड़ी सचिन और सहवाग. शोएब दोनों के आगे बेबस थे, तो उन्होंने सहवाग को बाउंसर डालकर छेड़ना शुरू कर दिया. जब सहवाग ने लगातार शोएब को बाउंसर डालते देखा तो शोएब को कहा सचिन को बाउंसर डालकर दिखआओ.

सचिन के स्ट्राइक पर आते ही शोएब ने फिर बाउंसर डाला. जवाब में सचिन ने बाउंड्री मारी. तब सहवाग ने शोएब को छेड़ते हुए कहा कि बाप बाप होता है, बेटा बेटा होता है.

2007 में भीडे़ गंभीर और आफरीदी

2007 वर्ल्ड कप के दौरान कानपुर में खेले गए तीसरे वनडे मैच में गौतम गंभीर ने आफरीदी की गेंद पर चौका लगाया था. साथ ही उन्होंने कुछ टिप्पणी भी की थी.

इससे गुस्साए आफरीदी ने अगली गेंद पर रन लेने दौड़ रहे आफरीदी ने गंभीर को टक्कर मार दी. इस के बाद दोनों खिलाडि़यों के बीच काफी बहस हुई. मैदान पर ये बहस इतनी बढ़ गई की दोनों एंपायरों को खिलाडियों का बीच बचाव करने आना पडा़.

2011 में हरभजन शोएब अख्तर

मैच था भारत-पाक का. ओवर था 49वां और ओवर की आखिरी गेंद. भारत को चाहिए थे 7 गेंदों में 7 रन. क्रिज पर थे हरभजन सिंह और बोलिंग साइड पर थे शोएब अख्तर. यहीं अख्तर ने पंगा ले लिया सरदार से.

मैच के आखिरी पलों में अख्तर ने बाउंसर फेंकी. हरभजन ने मारने की कोशिश की, लेकिन उनका बैट गेंद के आसपास भी नहीं रहा. अपनी कामयाबी से ऐंठे हुए अख्तर ने हरभजन को छेड़ा. दोनों के बीच अच्छी-खासी कहासुनी हो गई. इतनी कि अंपायर और बाकी खिलाड़ियों को बीच में आना पड़ा.

इसी के साथ ये ओवर खत्म हुआ. अगला ओवर मुहम्मद आमिर का था. 6 गेंदों में 7 रन चाहिए थे. पहली गेंद पर रैना ने एक रन लिया और दूसरी ही गेंद पर आउट हो गए. अगली दो गेंदों में भारत की झोली ने कुल 3 रन आए.

अब बचीं थी आखिरी 2 गेंदें और चाहिए थे कुल 3 रन. अब मुहम्मद आमिर ने गेंद फेंकी. और हरभजन ने उसे खेलकर लॉन्ग ऑन पर बहुत लंबा छक्का जड़ दिया. उसके बाद शेर की दहाड़ मारी.

इसके बाद हरभजन को जब शोएब अख्तर दिखे. अख्तर ने हरभजन को इशारा किया. जिसका मतलब था कि चल अब जीत गया न अब निकल ले.

2 thoughts on “वर्ल्ड कप में भारत से हर बार हारा पाक…ये 5 मौके रहे खास”

Leave a Reply