युद्धविराम के बाद भी तुर्की और सीरियाई सीमा पर झड़प जारी

अमेरिकी दबाव में तुर्की ने पांच दिनों के लिए युद्ध की घोषणा कर दी है, लेकिन सीरियाई सीमा पर रुक रुक कर गोलीबारी की जा रही है और तोपें गरज रही हैं.

मानवाधिकार संगठन का कहना है कि तुर्की की सेना और उसके सीरियाई घटक कुर्द बहुल सीरियाई लोकतांत्रिक बलों के साथ संघर्षरत है. समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, सीमा पर भारी हथियारों से गोलीबारी की आवाज सुनी जा रही है और धुआं का गुब्बार देखा जा रहा है.

तुर्की सीमावर्ती शहर रास अल आयन पर कब्जा करना चाहता है, क्योंकि रणनीतिक रूप से यह उसके लिए महत्वपूर्ण है. यही वजह है कि उसने विगत नौ अक्टूबर को सीरिया पर हमला भी किया था. लेकिन कुर्द लड़ाके कड़ा प्रतिरोध जता रहे है हैं और रूस समर्थित सीरियाई सेना का समर्थन मिलने से उसका मनोबल भी उंचा है. हालांकि अमेरिकी धमकी के बाद तुर्की ने गुरुवार को 120 घंटे के युद्धविराम की घोषणा कर दी.

दरअसल अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस और तुर्की के बीच एक समझौता हुआ जिसके तहत उसने युद्धविराम की घोषणा की, लेकिन कुर्द लड़ाकों को सीमा से 32 किलोमीटर पीछे हटना होगा, ताकि तुर्की के लिए यह इलाका एक सुरक्षित जोन बन सके.

कुर्द लड़ाके भी रास अल आयन और तल अबायद शहर के बीच सीमा पट्‌टी में युद्धविराम की शर्तों को मानने को तैयार हैं.

हिन्दुस्थान समाचार / कृष्ण

Leave a Comment

%d bloggers like this: