फेसबुक हेट स्पीच मामले की हो जांच, दोषियों पर हो कार्रवाई: राहुल गांधी

Rahul Gandhi
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

– कहा, देश के मामलों में विदेशी कंपनी का हस्तक्षेप स्वीकार नहीं

नई दिल्ली, 01 सितम्बर (हि.स.). फेसबुक हेट स्पीच का मामला लागतार बढ़ता जा रहा है. अब इसमें वॉल स्ट्रीट जनरल के नए खुलासे के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने फेसबुक और वाट्सअप के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि मामले की जांच होनी चाहिए और जो दोषी हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई जरूरी है.

राहुल गांधी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने भारत के लोकतंत्र और सामाजिक सद्भाव पर फेसबुक और वाट्सअप के हमले को पूरी तरह से उजागर किया है. हमारे देश के मामलों में किसी को भी, यहां तक की विदेशी कंपनी को भी हस्तक्षेप करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है. तुरंत जांच करनी चाहिए और दोषी पाए जाने पर दंडित किया जाना चाहिए.’

दरअसल, अमेरिकी समाचार पत्र वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के बाद सोशल साइट फेसबुक पर भाजपा नेताओं के नफरत फैलाने एवं हिंसा भड़काने संबंधी बयानों को नहीं हटाने को लेकर कांग्रेस पार्टी ने पक्षपातपूर्ण रवैया अपनाए जाने को लेकर हल्ला बोला हुआ है. फिर टाइम मैग्जीन ने एक रिपोर्ट छापकर भाजपा और फेसबुक की सांठगांठ का पर्दाफाश किया था.

इस बीच अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल ने फेसबुक की सीनियर अधिकारी अंखी दास से जुड़े कुछ अहम दावे किए हैं. बताया गया है कि अंखी दास ने चुनाव में कांग्रेस की हार को तीस साल की जमीनी मेहनत के बाद मुक्ति बताते हुए एक अलग अंदाज में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ की थी. इतना ही नहीं चुनावी कैंपेन में भी उनकी भूमिका को लेकर सवाल उठाए गए हैं.

अंखी दास फेसबुक की इंडिया पब्लिक पॉलिसी हेड भी हैं और हाल ही में वॉल स्ट्रीट जर्नल ने ही अपनी एक खबर में दावा किया था कि कैसे भाजपा से जुड़े नेताओं की हेट स्पीच पर फेसबुक ने दोहरे मापदंड अपनाए. ये कहा गया कि अंखी दास ने भाजपा से जुड़े ऐसे नेताओं की हेट स्पीच पर बैन लगाने का विरोध किया.

हिन्दुस्थान समाचार/आकाश/बच्चन