वर्ल्ड कप जीतकर भी खुश नहीं इंग्लिश टीम के कप्तान मोर्गन, जानिए क्या है वजह

खेल डेस्क. इंग्लैंड टीम ने भले ही पहली बार वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम किया हो मगर इंग्लिश टीम के कप्तान मोर्गन इस उपलब्धि हासिल करने के बावजूद संतुष्ट नहीं हैं. मोर्गन ने माना जिस तरह से वर्ल्ड कप का समापन हुआ वो ठीक तरीका नहीं था.

मेजबान टीम ने फाइनल मुकाबले में बाउंड्री के आधार पर न्यूजीलैंड को मात देकर पहली बार वर्ल्ड कप खिताब अपने नाम किया था. वर्ल्ड कप फाइनल निर्धारित 50 ओवर खेलने के बाद भी टाई रहा था.

जिसके बाद मैच सुपर ओवर में चला गया. मैच में खेले गए सुपर ओवर में भी दोनों टीम बराबर रन पाई. लेकिन इसके बावजूद वर्ल्ड कप इंग्लिश टीम के खाते में दर्ज हो गया. जबकि किवी टीम ने मैच में शानदार खेल दिखाया था.

जिस पर बाद में कई क्रिकेट दिग्गजों ने सवाल उठाया कि अगर दोनों टीम का स्कोर सुपर ओवर में भी टाई रहा तो क्यों एक टीम को विजेता घोषित किया गया. इसके साथ ही बाउंड्री काउंट के नियम को भी गलत ठहराया गया.

इसके अलावा मैच में खराब अंपायरिंग ने भी ने इंग्लैंड टीम के वर्ल्ड कप जीतने में खास भूमिका अदा की. जिस पर बात करते हुए मोर्गन ने द टाइम्स’ के हवाले से बताया, ‘मैं नहीं समझता कि दोनों टीमों के बीच बहुत कम अंतर होने के बाद उस तरह से खिताब का फैसला करना उचित था.

मैं नहीं समझता कि पूरे मैच के दौरान ऐसा एक पल था कि आप कह सकते हैं कि उसकी वजह से मैच में किसी टीम को हार झेलनी पड़ी. फाइनल मुकाबला बराबरी का था. मैं वहां था और मैं जानता हूं कि क्या हुआ.

लेकिन मैं ऊंगली उठाकर ये भी नहीं बता सकता कि कहां मैच जीता या हारा गया. मैं नहीं समझता कि विजेता बनने से ये आसान हो गया है. यकीनन तौर पर हार झेलना बहुत कठिन होता है. जो आसान नहीं है.

उन्होंने साथ ही कहा कि मैच में कोई एक ऐसा पल नहीं था कि जहां हम कह सकते कि हम जीत के असल हकदार हैं’. इसमें कोई दोराय नहीं है कि न्यूजीलैंड और हमारी टीम के बीच खेला गया मैच बहुत रोमांचक रहा.

Leave a Comment

%d bloggers like this: