Election2019: कुछ जगहों पर हिंसा के बावजूद पहले चरण में 60 फीसदी से ऊपर हुई वोटिंग

17वीं लोकसभा का पहला चरण 11 अप्रैल से शुरू हो चुका है. इसके तहत 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों और चार राज्यों (ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश, आंध्र प्रदेश, सिक्किम) की विधानसभा सीटों पर मतदान आज संपन्न हो गए.

वोटिंग के दौरान आंध्र प्रदेश में हिंसा की खबर सामने आई. आंध्र प्रदेश के अनंतपुर में टीडीपी और वाईएसआरसीपी कार्यकर्ताओं के बीच खूनी संघर्ष हुआ. इस संघर्ष में स्थानीय टीडीपी नेता चिंता भास्कर रेड्डी की मौत हो गई है.

चिंता भास्कर रेड्डी अनंतपुर के तदीपत्री के स्थानीय नेता हैं. YSR कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ भिड़ंत में उन्हें गंभीर चोट आई थी, इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया था. जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.

कहां पर कितने प्रतिशत हुआ मतदान

आंध्र प्रदेश की 25 सीटों पर 66% मतदान,असम की 5 सिटों पर 68.60% मतदान,छत्तीसगढ़ 1 सीट पर 56% मतदान ,जम्मू-कशमीर के 2 सीट पर 54.49% मतदान,मणिपुर 2 सीटों पर 78.20% मतदान, लक्षदीप की 1 सीट पर 65.9% मतदान, आंडमान निकोबार 1 सीट पर 70.67% फीसदी मतदान हुआ.

त्रिपुरा की 1 सीट पर 81.8% मतदान,उत्तराखण्ड की 5 सीट पर 57.8% मतदान,पश्चिम बंगाल की 2 सीट पर 81% मतदान,नागालैंड की 1 सीट पर 78%मतदान,मिज़ोरम की 1 सीट पर 60% मतदान, अरुणांचल प्रदेश 2 सीट पर 66% मतदान, बिहार की 4 सीट पर 50% मतदान,महाराष्ट्र की 7 सीट पर 56 %मतदान, ओडिशा की 4 सीट पर 68% मतदान,तेलंगाना की 17 सीट पर 60 %मतदान,उत्तर प्रदेश की 8 सीट पर 63.69% मतदान हुआ.

बता दें कि पहले चरण में बिहार की 4 सीटों- औरंगाबाद, गया, नवादा और जमुई, पश्चिम उत्तर प्रदेश की 8 सीटों- सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और नोएडा. छत्तीसगढ़ की बस्तर सीट, ओडिशा की 4 सीट, असम की 5 सीट, जम्मू-कश्मीर की 2, महाराष्ट्र की 7 सीटों पर मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं. इसके अलावा पश्चिम बंगाल के 2 सीटों पर भी वोट डाले जा रहे हैं. इसमें 1279 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होना है.

मोदी सरकार के 8 मंत्रियों की प्रतिष्ठा भी दांव पर
लोकतंत्र के इस महापर्व के पहले चरण में मोदी सरकार के 8 मंत्रियों की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी है. इसमें केंद्रीय मंत्री जनरल (रिटायर्ड) वीके सिंह, नितिन गडकरी, हंसराज अहीर, किरण रिजीजू शामिल हैं. वहीं, कांग्रेस की रेणुका चौधरी, एआईएमआईएम के असदुद्दीन ओवैसी की किस्मत भी आज ईवीएम में कैद हो जाएगी.

तेलंगाना कांग्रेस ने की मांग
तेलंगाना कांग्रेस ने मांग की है कि मतदान में इस्‍तेमाल हुए मशीनों को सेना या सीआरपीएफ को सौंपा जाए और जिस कमरे में उसे रखा जाए, वहां कड़ी सुरक्षा के इंतेजाम किए जाएं. उन्होंने कहा कि वोटों की गिनती 23 मई को होगी. यानी 42 दिनों के बाद. इसलिए ईवीएम मशीनों की सुरक्षा को सुनिश्चित किया जाए.


मतदान के दौरान नक्सलियों का हमला

महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में गुरुवार को लोकसभा चुनाव के लिए मतदान के दौरान नक्सलियों ने एक मतदान केंद्र के समीप एक पुलिस दल पर हमला कर दिया. इस हमले में पुलिस के तीन जवान घायल हो गए हैं. घायल जवानों को इलाज के लिए नागपुर ले जाया गया है. जब जवानों को हेलीकॉप्‍टर से ले जाया जा रहा था, उस वक्‍त भी नक्‍सलियों ने गोलीबारी की.

बिना पहचान पत्र मतदान केंद्र में धुसने की कोशिश
पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के कैराना में कुछ लोग बिना पहचान पत्र के जबरन मतदान केंद्र में घुसकर मतदान करने की कोशिश कर रहे थे. पीटीआई के अनुसार, हालात पर काबू पाने के लिए इस दौरान बीएसएफ जवानों को हवा में फायरिंग करनी पड़ी.

आंध्र प्रदेश में कई जगह झपड़ की आई खबरें
आंध्र प्रदेश में आज 25 लोकसभा और 175 विधानसभा सीटों पर मतदान हो रहे हैं. सत्तारूढ़ तेलुगु देशम पार्टी के कार्यकर्ताओं और मुख्य विपक्षी वाईएसआर कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच कई जगह झपड़ की खबरें आईं. अनंतपुरम जिले के तड़ीपात्रा विधानसभा क्षेत्र के एक गांव में वाईएसआर कार्यकर्ता के मारे जाने की भी सूचना है यहां कुल 66% मतदान हुआ.

%d bloggers like this: