बिहार चुनाव का बिगुल बजा, कोरोना मरीज भी डाल सकेंगे वोट-EC

25
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई  दिल्ली. चुनाव आयोग कुछ ही देर में बिहार विधानसभा 2020 के साथ ही उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और कर्नाटक के उपचुनावों की तारीखों का ऐलान करेगा.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा की प्रेस कॉन्फ्रेस की बड़ी बातें

  • चुनाव नागरिकों का लोकतांत्रिक अधिकार
  • कोरोना के दौर में पहला बड़ा चुनावॉ
  • मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कोरोना की वजह से 70 से ज्यादा देशों ने चुनाव टाल दिए थे
  • पोलिंग बूथ पर मतदाताओं की संख्या घटाई गई
  • नए सुरक्षा मानकों के तहत चुनाव
  • सुबह सात से 6 बजे तक वोटिंग होगी
  • नामांकन ऑनलाइन भी भर सकेंगे
  • 5 से ज्यादा लोग घर जाकर प्रचार नहीं कर सकेंगे
  • मतदान का समय एक घंटे बढ़ाया गया.
  • 46 लाख मास्क का इस्तेमाल
  • 6 लाख पीपीई किट का इस्तेमाल
  • कोरोना पॉजिटिव मरीज भी वोट डाल सकेंगे
  • उम्मीदवार के साथ केवल दो लोग रह सकते हैं.
  • सोशल डिस्टेंसिंग के साथ प्रचार किया जाएगा
  • चुनाव प्रचार सिर्फ वर्चुअल होगा.
  • उम्मीदवारों के बारे में जानकारी बेवसाइट पर देनी होगा
  • दागी नेताओं को अपनी डिटेल मीडिया में देनी होगी

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी के दौर में ये पहला बड़ा चुनाव होगा. इसको देखते हुए चुनाव आयोग भी कई तरह की गाइडलाइंस को जारी कर चुका है. हालांकि, चुनाव आयोग ने पहले ही साफ कर दिया था कि नवंबर के आखिर तक बिहार में विधानसभा चुनाव करा लिए जाएंगे. 21 अगस्त चुनाव आयोग ने कोरोना के दौर में चुनाव कराने के लिए गाइडलाइन जारी की थी.

कोरोना महामारी की वजह से विपक्षी पार्टियां चुनाव को टालने की बात कह रही थीं. यही नहीं नीतीश सरकार (Nitish Government) की सहयोगी पार्टी ने जुलाई में चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखकर चुनाव टालने तक का आग्रह किया था.

बीजेपी (BJP) के साथ सरकार चला रहे नीतीश कुमार चौथी बार सत्ता में आने के लिए चुनाव लड़ेंगे, हालांकि, ये चुनाव उनके लिए हर बार से कुछ ज्यादा चुनौतीपूर्ण रहने वाले हैं.

बता दें कि 243 सदस्यों वाली बिहार विधानसभा का कार्यकाल 29 नवंबर को समाप्त हो रहा है. पिछले बार 5 चरणों में चुनाव हुए थे. कोरोना के चलते इस बार 2 से 3 चरणों में चुनाव कराए जा सकते हैं.