#CYCLONEFANI : स्ट्रांग रूम की सुरक्षा पर ELECTION COMISSION ने मांगी रिपोर्ट

कोलकाता.

पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफान फानी (Cyclone Fani) के प्रतिकूल असर के मद्देनजर राज्य के मुख्य चुनाव अधिकारी आरिज आफताब ने स्ट्रांग रूम और ईवीएम की सुरक्षा के लिए किए गए सुरक्षा संबंधी उपायों के बारे में राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की है.

शुक्रवार को राज्य के अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी संजय बसु ने इस बारे में कहा कि राज्य की 18 लोकसभा सीटों पर मतदान हो चुके हैं. इनमें से कुछ चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों में भी पड़ते हैं, इसलिए मतदान के बाद स्ट्रांग रूम में ईवीएम की सुरक्षा को लेकर राज्य सरकार से रिपोर्ट मांगी गई है.

सोमवार को होगा मतदान

आगामी छह मई यानी सोमवार को राज्य के सात संसदीय क्षेत्रों में मतदान होने हैं. इस प्रक्रिया के लिए इस्तेमाल होने वाले ईवीएम और अन्य मतदान संबंधी इक्विपमेंट्स की सुरक्षा के संबंध में जो उपाय किए गए हैं, उसके बारे में भी राज्य सरकार से रिपोर्ट तलब की गई है. 

माना जा रहा है कि चक्रवात का असर पांच मई तक रहने वाला है और उसके ठीक एक दिन बाद चुनाव होना है. इसलिए यह जरूरी है कि मतदान से जुड़ी चीजें सुरक्षित और संरक्षित रखा जाए.

चुनाव आयोग के अधिकारी ने बताया कि आपदा के समय में राज्य प्रशासन की पहली प्राथमिकता नागरिकों की सुरक्षा रहती है, इसलिए पूरी परिस्थिति पर चुनाव आयोग ने नजर बनाए रखी है. 

जिला निर्वाचन अधिकारियों (डीईओ, DEO) को तैयारियों के संबंध में सभी योजनाओं की समीक्षा करने का निर्देश दिए गए हैं. स्ट्रांग रूम की सुरक्षा के लिए राज्य का चुनाव आयोग कार्यालय राज्य सरकार के लगातार संपर्क में है.

बंगाल में कई जगह पानी-पानी

मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में बना समुद्री तूफान फानी (Cyclone Fani) रात करीब 11:30 बजे ओडिशा के तटीय इलाके में प्रवेश कर गया.

इसके प्रभाव से शुक्रवार सुबह 3 बजे से राजधानी कोलकाता समेत हावड़ा, हुगली, उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर, झाड़ग्राम तथा नदिया जिले में तेज हवा के साथ रुक-रुककर बारिश हो रही है.

शुक्रवार रात 9:30 बजे के करीब बंगाल के समुद्र तटीय इलाके में 100 से 115 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी. भारी बारिश होने की भी संभावना है.

मौसम विभाग के मुताबिक आसनसोल में 0.8 मिलीमीटर, कोंटाई में 3.4, कूचबिहार में 54.8, मेदिनीपुर में 7.4, सिलिगुड़ी में 12 और श्रीनिकेतन में 0.3 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है.

बारिश के कारण लोग परेशान

बारिश के कारण लोग जरूरी ना होने पर अपने घरों से निकलने से परहेज कर रहे हैं. सड़क पर निकले वाहनों में भी यात्रियों की संख्या काम देखी जा रही है.

जान माल के नुकसान को रोकने के लिए प्रशासन ने दीघा के सारे होटलों को खाली करने का निर्देश दे दिया है. गुरुवार से ही एनडीआरएफ की टीमें दीघा पहुंच गईं हैं.

दीघा मंदारमनी सहित सभी तटीय इलाकों पर लोगों को सतर्क करते हुए माइकिंग चलाई जा रही है. समुद्र में ऊंची ऊंची लहरें उठ रही हैं. हल्दिया में भी परिस्थिति पर नजर रखी जा रही है. नौसेना के जवान भी पूरी तरह से फानी से निपटने को तैयार हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/ओमप्रकाश/धनंजय/सुगंधी/मधुप/प्रभात/मुकुंद/बच्चन

%d bloggers like this: