डेरीफार्म शुरू करके कमाए लाखों, सरकार देगी 70 फीसद सब्सिडी, जानिए पूरा प्लान

Dairy farm
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

आज पूरे विश्व को कोरोनावायरस महामारी ने अपने शिकंजे में ले लिया है. विश्व के सभी देश इस महामारी से त्राहिमाम कर रहे हैं. पूरे विश्व कीअर्थव्यवस्था पर संकट के बादल छाए हुए हैं. हर कोई इस संकट से निकलने के लिए हाथ पैर मार रहा है.

अपने देश की बात करें तो मैन्युफैक्चरिंग यूनिट, उद्योग धंधो,सर्विस सेक्टर तथा देश से होने वाले निर्यात को भारी नुकसान का मुंह देखना पड़ रहा है. इस नुकसान की भरपाई करने के लिए कई कंपनियों ने तो कर्मचारियों की छटनी भी करनी शुरू कर दी है.

ऐसी स्थिति में ज्यादातर लोग खुद का  बिजनेस करने की सोच रहे हैं. जोकि कम निवेश में आसानी से किया जाए और मुनाफा भी अच्छा कमाया जा सके.ऐसे में सरकार भी लोगों को बिजनेस शुरू करने में मदद कर रही है.वैसे तो कई व्यवसाय है जिन्हें लोग कम लागत में शुरू कर अच्छी कमाई कर सकते हैं पर आज हम आपको एग्रीबिजनेस यानी कृषि से जुड़े हुए बिजनेस के बारे में बताएंगे.

यह एक ऐसा व्यवसाय है जो सदाबहार रहेगा,वो है डेयरी यानी पशुपालन का व्यवसाय.यह एक ऐसा कारोबार है जिसके उत्पाद की आवश्यकता लोगों को हर दिन पड़ती हैं. हमारे देश में सभी घरों के किचन में बिना डेयरी उत्पाद के खाना बनाने की कल्पना भी नहीं की जा सकती.

हमारा कहने का मतलब यह है कि इन उत्पादों की मांग सदैव बनी रहती है.गर्मी के मौसम में तो दूध एवं दुग्ध उत्पादों की मांग अधिक होने के कारण बाजार की पूर्ति भी नहीं हो पाती.इसलिए इस व्यवसाय में अर्थव्यवस्था के उतार चढ़ाव का कोई असर नहीं पड़ता है.

“डेरीफार्म के लिए आवश्यक न्यूनतम भूमि”
इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए आपको लगभग 1000 Sq.Ft जगह की आवश्यकता होगी. जिसमें 500 Sq.Ft की जगह में प्रॉसेसिंग एरिया (Processing Area), 150 Sq.Ft में रेफ्रिजरेशन रूम (Refrigeration Room), 150 Sq.Ft में वॉशिंग एरिया (Washing Area), 100 Sq.Ft में अन्य  सुविधाओं के लिए जरूरत होगी. कुल मिलाकर कहने का मतलब यह है कि आपके पास लगभग 1 बीघा जमीन होनी चाहिए. इसमें आप सुचारू रूप से एक छोटा डेरी फार्म चला सकते हैं.

“आवश्यक न्यूनतम पूंजी निवेश”
पूंजी निवेश की मात्रा आपके प्रोजेक्ट पर निर्भर करती है. जिस स्तर पर आप अपना प्रोजेक्ट शुरू करना चाहते हैं उसी के अनुसार आपको पूंजी की व्यवस्था करनी पड़ेगी. हम यहां आपको छोटे स्तर पर एक व्यवसाय शुरू करने के लिए सुझाव देंगे.

छोटे स्तर पर शुरू करने में आपको इस व्यवसाय का अनुभव भी हो जाएगा और पूंजी भी कम मात्रा में आवश्यक होगी. इसके लिए आपको 5 लाख रुपए का निवेश करना होगा. इस स्तर पर आप इसे शुरू करके 70 हजार रुपए प्रति माह आसानी से कमा सकते है.

“सरकार से मिलेगी 70 फीसद सब्सिडी”
भारत सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए कई योजनाएं चलाई हुई है. इन योजनाओं के तहत आप लोन लेकर व्यवसाय शुरू कर सकते हैं. योजना के तहत लिए गए लोन में भी आपको सब्सिडी मिलती है.डेयरी फार्म को शुरू करने के लिए आप मोदी सरकार की प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना का लाभ उठा सकते है.

जिसमें सरकार आपको व्यवसाय शुरू करने के लिए आपके प्रोजेक्ट की कुल लागत का 70 फीसद लोन के रूप में देगी बस आपको केवल 30 फीसद राशि की व्यवस्था करनी होगी. इस योजना में केवल 30% धनराशि खर्च करके आप अपना पैसा शुरू कर सकते हैं.

“साल भर में कितना कमा सकते हैं”
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के प्रोजेक्ट के अनुसार, इस डेयरी प्रोडक्ट व्यवसाय में सालाना 75 हजार लीटर फ्लेवर्ड मिल्क (Flavoured Milk) का उत्पादन कर सकते है. इसके अलावा 35 हजार लीटर दही (Yoghurt), 80 हजार लीटर बटर (Butter) और 40,00 किलोग्राम घी (Ghee) बना कर भी बेच सकते है. इस हिसाब से हम लगभग 82 लाख 50 हजार रुपए का टर्नओवर कर सकते है.

जिसमें करींब 74 -75 लाख रूपए की कॉस्टिंग होगी जबकि 14 फीसद ब्याज निकालने के बाद भी आप आसानी से 7 से  8 लाख रुपए की बचत कर सकते है.
अगर हम पूरे प्रोजेक्ट की लागत खर्च की बात करें तो इसमें कुल 16 लाख पचास हजार रुपए खर्च होंगे. इसमें आपको केवल 5 लाख रुपए लगाने होंगे.

हिंदुस्थान समाचार/कर्मवीर सिंह तोमर