दिल्ली: डीयू के छात्र की हत्या को न दिया जाए सांप्रदायिक रंग: डीसीपी

Rekha
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली, 10 अक्टूबर (हि.स.). उत्तर पश्चिमी जिले के आदर्श नगर इलाके में डीयू के छात्र की पीट-पीटकर हत्या मामले में पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. अब मृतक के घर नेताओं का आना जाना लगा है हुआ है, जिसकी वजह से मामला दो समुदायों के बीच का होकर तूल पकड़ रहा है. इस पर उत्तरी पश्चिमी जिले की डीसीपी विजियंता आर्य ने अपील करते हुए कहा कि इसे संप्रदाय रंग ना दिया जाए.

डीसीपी ने बताया कि बुधवार रात करीब 12:00 बजे घायल और बेहोशी की हालत में छात्र को इलाज के लिए अस्पताल में लाया गया. पता चला कि पिटाई की वजह से उसकी आंत फट गई है और ज्यादा खून बहने की वजह से उसकी मौत हो गई. पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव को परिजनों को सौंप दिया था.

घटना के बाद आदर्श नगर थाना पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज करते हुए तीन नाबालिग सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इसमें दो आरोपी बालिग जबकि तीन आरोपी नाबालिग हैं. जिन्हें बाल सुधार गृह भेज दिया गया है. हालांकि जिले के डीसीपी विजयंता आर्य ने बताया कि मीडिया के माध्यम से वह अपील कर रही हैं कि इस मामले को सांप्रदायिक रंग ना दिया जाए. यह दो परिवारों की आपसी लड़ाई का मामला है, जिसमें नाबालिग की मौत हो गई.

सीसीटीवी फुटेज आया सामने
मृतक नाबालिग के चाचा ने बताया कि घटना के 3 दिन बीत जाने के बाद भी दिल्ली सरकार की ओर से कोई भी व्यक्ति उनसे मिलने नहीं आया है और ना ही इस बारे में उन्हें कोई जानकारी है. हालांकि अंतिम संस्कार वाले दिन इलाके के विधायक पवन शर्मा जरूर श्मशान घाट पहुंचे थे, लेकिन अभी तक दिल्ली सरकार की ओर से कोई भी लोगों से मिलने के लिए नहीं आया.

घटना से जुड़ा एक सीसीटीवी सामने आया है. जिसमें लड़की के जानकार एक लड़की को खींच कर ले जा रहे हैं. बताया जा रहा है कि उन्होंने पहले मृतक नाबालिग और लड़की को अलग करने की कोशिश की और फिर रात के समय नाबालिग की पीट-पीटकर हत्या कर दी.

आरोपियों को भेजा जेल
आदर्श नगर थाना पुलिस ने घटना के बाद मामला दर्ज कर आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जिसमें दो बालिग आरोपी मोहम्मद अफरोज और मुनव्वर हसन हैं, बाकी तीन नाबालिग को पकड़कर बाल सुधार गृह भेज दिया है, जबकि परिवार का आरोप है कि इसमें कई और आरोपी हैं, जिन्हें पुलिस ने अब तक गिरफ्तार नहीं किया है.

मृतक के परिवार को मिले मदद : कपिल मिश्रा
आदर्श नगर इलाके में एक समुदाय विशेष द्वारा नाबालिग की हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. बीजेपी ने इसे सोची समझी साजिश करार दिया है. बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने कहा कि आदर्श नगर में नाबालिग की हुई हत्या मामले में हम सब पीड़ित परिवार के साथ हैं. युवक की हत्या ठीक उसी प्रकार हुई, जिस प्रकार गत वर्ष दिल्ली के अलग-अलग इलाके में ध्रुव त्यागी और अंकित सक्सेना की हत्या की गई थी.

आरोपियों ने नाबालिग युवक को बहुत दर्दनाक तरीके से मारा है. उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार से वे मांग करते हैं कि मृतक के परिवार को कानूनी सहायता और एक करोड़ रुपये की मदद तुरंत दी जाए.

हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी