नशे के आदी शख्स ने पत्नी एवं तीन बेटियों की हत्या कर लगाई फांसी

-पत्नी एम्स में थी नर्स, चरित्र पर शक और नशे ने ली पांच जानें
-पहले दिया था जहर और फिर मुंह पर लगाई टेप

गाजियाबाद
मसूरी थानाक्षेत्र के शताब्दी नगर इलाके में शुक्रवार तड़के एक शख्स ने पत्नी एवं तीन बेटियों की हत्या कर दी. बाद में उसने खुद भी फांसी लगा ली. मौके पर पहुंची पुलिस को कमरे से सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उसने पत्नी के चरित्र पर शक होने की बात लिखी गई है. फिलहाल पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है.


बताया जाता है कि पति ने पहले चारों को जहर देकर बेहोश किया था. घटना की जानकारी उस समय लगी जब एक घायल के रोने की आवाज आई. इस हृदय विरादक घटना के बाद पूरे मसूरी क्षेत्र में सनसनी फ़ैल गई. पुलिस के मुताबिक परिवार की सामूहिक हत्या करने वाला शख्स नशे का आदी था. उसे पत्नी के चरित्र पर शक था, जिसके चलते उसने इस वारदात को अंजाम दिया.


एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि नेवी से सेवानिवृत फेरु सिंह अपने परिवार के साथ मसूरी थानाक्षेत्र के शताब्दी नगर इलाके में रहते हैं. उनका शादीशुदा बेटा प्रदीप(37) भी इस मकान में रहता था. प्रदीप की पत्नी संगीता(35) ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (एम्स )में नर्स थी. प्रदीप नशे का आदी था. इसको लेकर अक्सर उसका पत्नी से विवाद होता रहता था.


एसएसपी ने बताया कि शुक्रवार तड़के करीब पांच बजे प्रदीप के कमरे से एक बच्ची के रोने की आवाज आई. प्रदीप की बहन रीना वहां पहुंची तो अंदर से दरवाजा बंद था. उसने दरवाजा खोलने की कोशिश की लेकिन दरवाजा नहीं खुला, तो उसने परिवार के अन्य सदस्यों को जगाया और दरवाजा नहीं खुलने पर पुलिस को सूचना दी गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो अंदर का दृश्य बेहद खौफनाक था.

इस दौरान प्रदीप, उसकी पत्नी संगीता, बेटी मनस्वी(8), यशस्वी(5) व ओजस्वी(3) मृत अवस्था में पड़ी थीं. सभी के मुंह पर टेप लगी थी. पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा कर जांच शुरू कर दी है.


एसएसपी ने बताया कि कमरे में एक कॉपी मिली है, जिस पर प्रदीप ने मरने से पहले सुसाइड नोट लिखा है, जिसमें पत्नी के चरित्र पर शक की बात कही है. उन्होंने बताया कि प्रारम्भिक जांच में यह भी पता चला है की प्रदीप नशे का आदी था. कुछ काम नहीं करता था.

इसको लेकर अक्सर पति-पत्नी में क्लेश रहता था. जांच में यह भी पता चला है कि प्रदीप ने पहले पत्नी एवं बच्चों को जहर दिया जब वे सभी बेहोश हो गए, तो उसने पत्नी की हथोड़े से हत्या कर दी और उसके बाद तीनों बच्चियों को भी मार डाला. इसके बाद खुद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मामले की और भी बिंदुओं पर जांच की जा रही है.

हिन्दुस्थान समाचार/फरमान

Leave a Reply