आयुष्मान भारत योजना से 135 भारतीयों की भावना जुड़ी: डॉ. हर्षवर्धन

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत एक करोड़ से ज्यादा लाभार्थियों ने उपचार कराया है. इस योजना को आगे ले जाने और भविष्य के लिए रोड मैप तैयार करने के मकसद से गुरुवार को आरोग्य धारा वेबिनार का आयोजन किया गया.

इस वेबिनार में केन्द्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना के साथ 135 करोड़ लोगों की भावना जुड़ी हुई हैं. इस योजना से जुड़े लोग आज असाधारण परिस्थतियों में भी काम कर रहे हैं. कोरोना के संक्रमण ने देश और दुनिया को प्रभावित किया है.

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि 135 करोड़ भारतीयों ने मिलकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आशीर्वाद से कोरोना के खिलाफ जंग को सफलतापूर्वक लड़ा है. उन्होंने कहा कि भारत ने दुनिया के देशों से बेहतर कोरोना के खिलाफ जंग को लड़ा है. भारत में  ऐसी परिस्थितियों में भी अधिकांश मरीजों को ठीक करके घर भेजा है.

उन्होंने कहा कि देश में अभी तक एक लाख लोग संक्रमित हुए हैं, उसमें से 40 हजार मरीज ठीक होकर अपने घर लौट चुके हैं और 60 हजार मरीज मरीज ठीक होने के कगार पर है. आने वाले समय में बहुत जल्दी, इसके ऊपर विजय प्राप्त करेंगे. उन्होंने कहा कि इस योजना के लाभार्थियों से बात कर इसकी कमियों को दूर करने का हर संभव प्रयास किया गया है और आज भी यह क्रम जारी है.

डॉ. हर्षवर्धन ने बताया कि दिल्ली में यह योजना लागू नहीं है लेकिन इस योजना के लाभार्थी बाहर से दिल्ली के एम्स और राम मनोहर लोहिया अस्पताल में पहुंचते हैं. इस योजना के तहत 55 करोड़ लोगों को लाभ दिया जाएगा जिसमें से एक करोड़ लोग लाभार्थी बनाए जा चुके हैं. एक करोड़ लोगों को 14000 करोड़ रुपये का लाभ मिल चुका है. 12-13 करोड़ लोगों के कार्ड बनाएं जा चुके हैं. इस योजना का सबसे ज्यादा लाभ मजदूर वर्ग को मिल रहा है.

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के इस्तेमाल से पकड़ा फर्जीवाड़ा

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि इस योजना में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की भी अहम भूमिका है. नेशनल हेल्थ अथॉरिटी ने इससे कार्ड बनाने के फर्जी वाड़े को भी पकड़ा है औऱ उन्हें एक्सपोज किया है. इस योजना में नई तकनीक का इस्तेमाल इसे गति दे सकता है.

इस मौके पर डॉ. हर्षवर्धन ने आयुष्मान योजना के लिए तैयार किया गया चैट वॉक्स, ई-कार्ड, और डैश बोर्ड को भी लांच किया. इस मौके पर नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे सहित कई अधिकारी मौजूद थे.

 हिन्दुस्थान समाचार/विजयलक्ष्मी

Leave a Reply

%d bloggers like this: