Dr. Harsh Vardhan
Dr. Harsh Vardhan

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन (Dr Harsh Vardhan) ने आज (गुरुवार को) कहा कि रोकथाम की जा सकने वाली बीमारियों से किसी गर्भवती महिला (Pregnant Women) और बच्चे की मृत्यु न होने दें.

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने विश्व जनसंख्या दिवस (World Population Day) के अवसर पर जनसंख्‍या एवं विकास पर अंतरराष्‍ट्रीय सम्‍मेलन (ICPD) से संबंधित राष्‍ट्रीय कार्यशाला @ 25 ईयर्स-लिवरेजिंग पार्टनरशिप्‍स के उद्घाटन के अवसर पर कहा,  आइए, हम सब रोकथाम की जा सकने वाली बीमारियों से किसी गर्भवती महिला (Pregnant Women) और बच्‍चे की मृत्‍यु न होने दें. 25 साल पहले 1994 में आज ही के दिन काहिरा में महत्‍वपूर्ण आईसीपीडी का आयोजन हुआ था.

उन्होंने स्वयं सेवी संगठन (NGO) और समाजिक संगठनों से प्रत्‍येक वर्ष एक महीने का समय जनसंख्‍या स्थिरीकरण के लिए समर्पित करने का आह्वान किया. 

उन्होंने कहा कि अकेले कार्य करके शिशु-मां की मृत्‍यु को रोका नहीं जा सकता तथा मातृ-शिशु के स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर नहीं बनाया जा सकता. यदि हमें इन लक्ष्‍यों को प्राप्‍त करना है तो सरकार, सिविल सोसायटी, निजी और कार्पोरेट क्षेत्र, समुदाय के नेता और मीडिया को महत्‍वपूर्ण भूमिका निभानी पड़ेगी.

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि सरकार स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़े मसलों का समाधान करने, इसके स्‍तर में सुधार लाने और गुणवत्‍तापूर्ण सेवाओं तक सभी की पहुंच सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है. 

उन्होंने कहा कि हमें स्‍वास्‍थ्‍य को सभी सार्वजनिक नीतियों के संघटक के तौर पर रखना चाहिए. यह अवसर महिला-पुरुष समानता, मातृ और शिशु स्‍वास्‍थ्‍य, मानवाधिकारों और गरीबी तथा विकास के अन्‍य निर्धारकों से जुड़े विषयों के बारे में चर्चा करने के लिए महत्‍वपूर्ण और प्रबल मंच भी उपलब्‍ध कराता है.

उन्‍होंने कहा कि पोलियो उन्‍मूलन के अभियान ने हमें सिखाया है कि कठिन दिखाई देने वाले कार्य भी समाज की भागीदारी से सफल बनाए जा सकते हैं. 

उन्‍होंने कहा कि हमें कामयाब कहानियों के अनुभवों से सीखना होगा और चुनौतियों से सबक लेना होगा. हमें अपने लक्ष्‍यों की प्राप्ति के लिए इस इस तरह के ज्ञान और संसाधनों पर निर्भर करना होगा.  

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के लिए इस साल का बजट देश में स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र को दिये जाने वाले महत्‍व की झलक प्रस्‍तुत करता है. इसमें कुल परिव्‍यय में लगभग 19 प्रतिशत तक वृद्धि की गई है. स्‍वास्‍थ्‍य एवं आरोग्‍य केंद्रों (HWC) और पीएमजेएवाई के दो स्‍तंभो को कवर करने वाले प्रमुख कार्यक्रम आयुषमान भारत में 154.87 फीसदी वृद्धि देखी गई है .

इस अवसर पर केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे,  स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं के महानिदेशक डॉ. एस. वेंकटेस,  सीजीएचएस के एएस और डीजी संजीव कुमार, एनएचएन के अवर सचिव तथा मिशन निदेशक मनोज झलानी,  संयुक्‍त सचिव डॉ. मनोहर अगनानी तथा मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारी उपस्थित थे.

हिन्दुस्थान समाचार/सुशील

1 COMMENT

Leave a Reply