पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम को नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

Dr. APJ Abdul Kalam
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

देश के 11वें राष्ट्रपति और महान वैज्ञानिक डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की आज जयंती है. 15 अक्टूबर, 1931 को रामेश्वरम में अब्दुल कलाम का जन्म हुआ था. उनकी जयंती पर राष्ट्रपति कोविंद, उप-राष्ट्रपति नायडू और पीएम मोदी सहित तमाम बड़े नेताओं ने उनको श्रद्धांजलि दी.

राष्ट्रपति कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में ही पूर्व राष्ट्रपति एवं महान वैज्ञानिक डॉ. कलाम को श्रद्धांजलि दी. उप-राष्ट्रपति एम. वैंकेया नायडू ने भी डॉ. कलाम को श्रद्धांजलि अर्पित की. उपराष्ट्रपति ने डॉ. कलाम की याद में कई ट्वीट किए.

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि “अगर सूरज की तरह चमकना है तो पहले सूरज की तरह तपना सीखो” नायडू ने लिखा कि देश के भूतपूर्व राष्ट्रपति, राष्ट्र के प्रबुद्ध विचार नायक, युवाओं के प्रेरणास्रोत और प्रख्यात वैज्ञानिक डॉ एपीजे अब्दुल कलाम जी की जन्म जयंती पर मनीषी विचारक के यश को सादर नमन करता हूं.

कलाम साहब को श्रद्धांजलि देते हुए पीएम मोदी ने लिखा कि डॉ. कलाम को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि. पीएम ने लिखा कि वैज्ञानिक और भारत के राष्ट्रपति के रूप में देश उनके योगदान को कभी नहीं भूल सकता. उन्होंने कहा कि उनकी जीवन यात्रा लाखों लोगों को ताकत देती है.

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने लिखा कि डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम को उनकी जयंती पर नमन. एक विजनरी लीडर, भारत के स्पेस और मिसाइल प्रोग्राम को गढ़ने वाले, जो हमेशा ही एक मजबूत और आत्मनिर्भर भारत बनाना चाहते थे. विज्ञान और शिक्षा के क्षेत्र में उनका योगदान सभी के लिए प्रेरणादायी है.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कलाम साहब को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि नए और मजबूत भारत के सपने को साकार करने के लिए प्रतिबद्ध, कलाम साहब ने अपना पूरा जीवन भारत के भविष्य के निर्माण के लिए समर्पित कर दिया. वे हमारी आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करते रहेंगे. उनकी जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि.