Delhi Pollution: दिल्ली-NCR में आज से नहीं चलेंगे डीजल-पेट्रोल वाले जेनरेटर, सिर्फ इनको मिली है छूट

15.
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) में आज यानी 15 अक्टूबर से डीजल, पेट्रोल और केरोसिन (Diesel Kerosene and Petrol) से चलने वाले सभी इलेक्ट्रिसिटी जेनेरटर (Electricity generator) चलाने पर पाबंदी (Ban) लगाई गई है.

दिल्ली समेत नोएडा, गाजियाबाद, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद और गुरुग्राम में जरूरी और इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर डीजल जनरेटरों के इस्तेमाल पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी. राजधानी में बढ़ते प्रदूषण (Pollution) को लेकर दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (Delhi Pollution Control Committee)  ने बुधवार को बड़ा फैसला लिया है.

दिल्ली सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय (Gopal Rai) ने एक ट्वीट के जरिए इस बात की जानकारी दी है. गोपाल राय ने अपने एक ट्वीट में लिखा, वायु प्रदूषण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने डीज़ल/ पेट्रोल/ केरोसीन से चलने वाले सभी जेनरेटर सेट पर गुरुवार से प्रतिबंध लगाया है.

एक सरकारी आदेश के मुताबिक, ‘‘डीपीसीसी 15 अक्टूबर से अगले आदेश तक दिल्ली में डीजल, पेट्रोल या केरोसिन से चलने वाले सभी क्षमता के जेनरेटर के इस्तेमाल को प्रतिबंधित करता है. ये आदेश आवश्यक एवं आपातकालीन सेवाओं में इस्तेमाल किए जाने वाले जेनरेटर सेट पर लागू नहीं होगा.

डीपीसीसी ने बिजली विभाग से उपभोक्ताओं को लगातार विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने को कहा है. इसके अलावा एयर एक्ट, 1981 के सेक्शन 31(A) के तहत दिए गए निर्दशों का उल्लंघन करने पर एयर एक्ट, 1981 के सेक्शन 37 के तहत कार्रवाई होगी.

इसके अलावा दिल्ली के उर्जा मंत्री सत्येन्द्र जैन (Satyendra Jain) ने बुधवार को केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह को एक पत्र लिखा. उन्होंने पत्र के जरिए एनसीआर में चल रहे सभी 11 थर्मल पावर प्लांट को बंद करने का अनुरोध किया है. दिल्ली-एनसीआर की हवा साफ रखने के मकसद से सीपीसीबी ने 50 टीमें गठित की हैं, जो प्रदूषण फैलाने वाली गतिविधियों पर नजर रखेंगी.