अमेरिका ने WHO को छोड़ा, कहा-चीन के इशारे पर होता काम

नई दिल्ली. अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप (Donald Trump) ने कोरोना वायरस महामारी को लेकर चीन पर हमला बोला है. अमेरिका (America) के राष्ट्रपति ने कहा है कि उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के साथ अमेरिका के सारे संबंधों को खत्म कर दिया है. उन्‍होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से हटने का ऐलान किया है.

डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा, ‘चीन डब्‍ल्‍यूएचओ (WHO) को प्रति वर्ष केवल 40 मिलियन डॉलर का भुगतान करता है. इसके बावजूद उसका डब्‍ल्‍यूएचओ पर नियंत्रण है. जबकि अमेरिका लगभग 450 मिलियन डॉलर प्रति वर्ष भुगतान करता है. डब्‍ल्‍यूएचओ से सुधार को लेकर जो सिफारिश की गई थी उसे लागू नहीं किया गया इसलिए आज हम डब्ल्यूएचओ के साथ अपने संबंधों को खत्म कर रहे हैं.

उन्होंने साफ-साफ शब्दों में चीन से कहा कि उसे कोरोना वायरस (Corona virus) के मामले में दुनिया के सवालों के जवाब देने होंगे. ट्रंप ने दुनिया भर में कोरोना वायरस के प्रसार के लिए चीन (China) को जिम्मेदार ठहराया है और उस पर अक्षमता का आरोप भी लगाया है.

वहीं, ट्रंप ने हांगकांग को दिए गए व्यापार और यात्रा दर्जे को खत्म करने की घोषणा की. ट्रंप ने आरोप लगाया कि चीन ने ब्रिटेन के साथ हुए व्यापार समझौते का उल्लंघन किया है.

बीते दिनों अमेरिका ने WHO को दी जाने वाली अपनी सहायता राशि पर रोक लगा दी थी, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने WHO पर कोरोना वायरस को पहचानने में फेल होने का आरोप लगाया था और चीन का साथ देने को लेकर आलोचना की थी.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) को आगाह किया था कि वह अगले 30 दिन में यह प्रदर्शित करे कि वह चीन से प्रभावित नहीं हैं.

Leave a Reply

%d bloggers like this: