उत्तर कोरिया में कदम रखने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बने ट्रंप, किम जोंग से की मुलाकात

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) ने रविवार को तीसरी बार उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन (Kim Jong Un) से मुलाकात की. ट्रंप उत्तर कोरिया में कदम रखने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बन गए हैं. इस मुलाकात में दोनों देश परमाणु वार्ता को पुनर्जीवित करेंगे. दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे इन ने इन दोनों नेताओं के बीच कोरियाई सीमा पर ग़ैर सैन्य क्षेत्र में मुलाक़ात की पुष्टि की थी.

कोरिया को अलग करने वाले डिमिलिटरीकृत ज़ोन (Demilitarized Zone) में बंद दरवाजों के पीछे आयोजित ये बैठक ट्रम्प की शुरुआती घोषित योजनाओं की तुलना में अधिक समय तक चली. इससे पहले दोनों ने मीडिया कैमरों के सामने गर्मजोशी से हाथ मिलाए. इन दोनों नेताओं के बीच सिंगापुर और हनोई (फरवरी 2019 ) के बाद यह तीसरी मुलाक़ात है. ट्रम्प ओसाका के बाद सीधे दक्षिण कोरिया की यात्रा के लिए रवाना हो गए.

ट्रम्प ने ओसाका में जी-20 देशों के शिखर सम्मेलन के समापन पर ट्वीट किया था कि वो उत्तरी कोरियाई शासक किम जोंग से मात्र हैलो, हैलो करने के इच्छुक हैं. रविवार को ट्रम्प का ब्लू हाउस में दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने स्वागत किया.

बता दें कि ट्रंप और किम के बीच हनोई स्थित दूसरी शिखर वार्ता अधूरी ख़त्म हुई थी और संयुक्त वक्तव्य पर हस्ताक्षर भी नहीं हो सके थे. इसके बावजूद एक अच्छी बात यह सामने आ रही है कि किम ने लंबी दूरी की बैलस्टिक मिसाइलों का परीक्षण रोक दी है. हालांकि पिछले दिनों उत्तरी कोरिया ने जापान सागर में छोटी दूरी की मिसाइलें प्रक्षेपित की थीं.

ट्रम्प ने कहा, ”किम एक अच्छे मित्र हैं और दोनों के बीच अच्छे संबंध हैं. वह भी मुझसें मिलने को उतने ही उत्सुक हैं. “

किम जोंग उन को ग़ैर सैन्य क्षेत्र में भेंट के लिए प्योंगयोंग से एक सौ मील अंदर आना होगा. इस क्षेत्र में दक्षिण और उत्तर कोरिया के बड़ी संख्या में जवान तैनात हैं. यह क्षेत्र पर्यटन की दृष्टि से बड़ा मनमोहक है, लेकिन रविवार को छुट्टी के दिन पर्यटकों के आवागमन पर रोक होती है.

2 thoughts on “उत्तर कोरिया में कदम रखने वाले पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बने ट्रंप, किम जोंग से की मुलाकात”

Leave a Reply