UP: डोम राजा जगदीश चौधरी का निधन, 2019 लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी के रहे थे ‘प्रस्तावक’

4
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली.2019 लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) में वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Modi) के प्रस्तावक रहे डोम राजा जगदीश चौधरी का आज निधन हो गया है. शहर के सिगरा स्थित निजी अस्पताल में इलाज के दौरान डोम राजा ने आखिरी सांसें ली. शहर की जानी मानी हस्तियों ने उनके निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है.

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi) ने डोमराजा के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि दी है.उन्होंने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावक रहे आदरणीय डोम राजा जगदीश चौधरी जी का निधन.सादर नमन. जगदीश चौधरी पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे. उनका मणिकर्णिका घाट पर आज अंतिम संस्कार किया जाएगा.

बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चार प्रस्ताव थे. इसमें डोम राजा जगदीश चौधरी, बीएचयू के महिला महाविद्यालय की पूर्व प्राचार्य डॉक्टर अन्नपूर्णा शुक्ला, जनसंघ के जमाने से जुड़े रहे बीजेपी के वरिष्ठ कार्यकर्ता सुभाष गुप्ता और कृषि वैज्ञानिक डॉक्टर रामशंकर पटेल प्रस्तावक थे.

जिस समय पीएम नरेंद्र मोदी का प्रस्तावक बनाया गया था तब उस समय डोम राजा जगदीश चौधरी (Jagdish chaudhary) ने कहा था कि पहली बार किसी राजनीतिक दल ने हमको पहचान दी है और वो भी खुद प्रधानमंत्री ने. ये हमारे लिए गर्व की बात है.

परिजनों के मुताबिक सुबह अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई थी. इसके बाद उन्हें आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया. भर्ती होने के कुछ समय के बाद ही उनकी मौत हो गई.बताया जा रहा है कि जानकारी के मुताबिक डोमराजा लंबे समय से जांघ में घाव की समस्या से परेशान थे.

जगदीश, काशी (Kashi) के डोम राजा के तौर पर जाने जाते रहे. सदियों से काशी के महाश्मशान मणिकर्णिका घाट पर जलने वाली चिताओं के अंतिम संस्कार के लिए यही परिवार अग्नि देता है. कहा जाता है कि चिता में जब डोम समुदाय का व्यक्ति आग लगाता है, तभी मोक्ष की प्राप्ति होती है. अंतिम डोमराजा के तौर पर स्‍‍‍‍‍व. कैलाश चौधरी की पहचान मानी जाती है.