दिग्विजय ने प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, पुलिस और प्रशासन के लिए भी की स्वास्थ्य बीमा की मांग

Digvijay Singh
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कोरोना से सीधी लड़ाई लड़ रहे सभी कर्मचारी-अधिकारियों को 50 लाख का स्वास्थ्य बीमा दिए जाने को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखा है. राज्यसभा सांसद एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर कोरोना से लड़ रहे स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों को तीन महीने तक 50 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा देने की सराहना करते हुए कोरोना उपचार में संलग्न अस्पतालों के फार्मेसी कर्मचारियों, लेब तकनीशियन और कोरोना से मैदान में सीधी लड़ाई लड़ रहे प्रशासनिक और पुलिस के अधिकारी-कर्मचारियों को भी 50 लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा दिए जाने का प्रधानमंत्री से आग्रह किया है.

दिग्विजय सिंह ने अपने पत्र में लिखा है कि देश में व्याप्त कोरोना महामारी और उससे उत्पन्न संकट से निपटने के लिए देश का हर नागरिक अपना अपना योगदान दे रहा है, लेकिन जो लोग स्वयं के जीवन को दांव पर लगाते हुए योद्धाओं की तरह मैदान में आकर इस महामारी से दिन रात लड़ रहे है, उनका कार्य किन्ही देवदूतों से कम नहीं ऑका जा सकता. आगे अपने पत्र में दिग्विजय सिंह ने कहा है कि सरकार ने जोखिम में रहकर कार्य करने वाले इन योद्धाओं में से डॉक्टर और नर्सों सहित सभी चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों और आशा कार्यकर्ताओं को तीन महीनों के लिए 50 लाख रुपये की स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा प्रदान की गई है.

निश्चय ही यह प्रशंसनीय है किन्तु कोरोना का उपचार कर रहे सरकारी और निजी अस्पतालों में काम करने वाले फार्मासिस्ट, कोरोना जांच के लिए अधिकृत सरकार एवं निजी लेबोरेटरीज में जांच करने वाले लेब कर्मचारियों, कोरोना संकट के समय रात दिन ड्यूटी करने वाले प्रशासनिक और पुलिस के अधिकारी कर्मचारियों को उक्त स्वास्थ्य बीमा सुरक्षा के दायरे में नहीं रखा गया है.

दिग्विजय ने प्रधानमंत्री मोदी से अनुरोध किया है कि कोरोना से मैदान में उतरकर सीधी जंग लड़ रहे फार्मासिस्टों, लेब कर्मचारियों और प्रशासनिक तथा पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को भी 50 लाख का स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने हेतु आवश्यक निर्देश प्रदान करने का कष्ट करें. कोरोना के खिलाफ देश की इस जंग में हम सब साथ है और मेरा विश्वास है कि पूरा देश मिलकर इस महामारी पर जल्दी ही विजय प्राप्त कर लेगा.

हिन्दुस्थान समाचार/ नेहा पाण्डेय