TMC सांसद Nusrat Jahan के सिंदूर लगाने पर क्या बोले देवबंदी उलेमा?

बंगाल से टीएमसी (TMC) की सांसद नुसरत जहां (Nusrat Jahan) इन दिनों चर्चा में हैं. सिंदूर और बिंदू लगाकर संसद पहुंचने का उनका वीडियो वायरल होने के बाद मुस्लिम समाज काफी नाराजगी जताई.

वहीं अब देवबंदी उलेमा (Deobandi Ulema) ने इस पर फुल स्टॉफ लगाने का काम किया है. उलेमा ने कहा है कि शरीयत किसी की निजी जिंदगी में दखल देने की इजाजत नहीं देता. जो लोग युवा सांसद नुसरत जहां को लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा कर रहे हैं वह इस चर्चा को बंद कर दें.

उन्होंने कहा कि नुसरत जहां जो बंगाल से अभी अभी सांसद बनी हैं. उनके बारे में मीडिया के जरिए पता चला है कि वे लोकसभा में सिंदूर और मंगलसूत्र पहनकर पहुंची थी. उन्होंने कहा कि तहकीकात से पता चला कि नुसरत ने जैन धर्म में शादी की है. इस्लाम ये कहता है कि मुसलमान सिर्फ मुसलमान से शादी कर सकता है किसी और से नहीं.

उन्होंने कहा कि नुरसत फिल्मों में काम करती हैं. और एक एक्टर का दीन उनके लिए अहमियत नहीं रखता, उन्हें जो करना होता है वह करते हैं. नुसरत खुद को मुसलमान समझती हैं या नहीं वह खुद जानें या अल्लाह बेहतर जानता है, लेकिन इस मामले में किसी को कुछ कहने का अधिकार नहीं है.

क्यों मचा बवाल?

हाल ही में उन्होंने उद्योगपति निखिल जैन (Nikhil Jain) से शादी की है. शादी के बाद नुसरत जब संसद पहुंची तो उन्होंने हिंदू रीति-रिवाज के अनुसार सिंदूर और बिंदी लगा रखी थी. इतना ही नहीं शपथ ग्रहण के बाद उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (OM Birla) के पैर छूकर आशीर्वाद भी लिया.

नुसरत का ये वीडियो अब सोशल मीडिया में तेजी के साथ वायरल हो रहा है. उनके इस वीडियो की वजह से मुस्लिम समुदाय में एक बहस छिड़ गई है. कुछ लोग इसे इस्लाम के खिलाफ बता रहे हैं. इतना ही नहीं वे लोग नुसरत को इस्लाम से बाहर करने की भी बात कह रहे हैं.

%d bloggers like this: