बिहार में उठी मिथिला को राज्यभाषा का दर्जा दिलाने की मांग

तीन दिवसीय मिथिला विभूति समारोह का विधायक ने किया शुभारंभ
मिथिला भाषा के उत्थान के लिये उत्कृष्ट योगदान करने वाले सम्मानित

दरभंगा, 11 नवम्बर (हि.स.). तीन दिवसीय मिथिला विभूति समारोह का उद्घाटन नगर विधायक संजय सरावगी ने किया. समारोह में बिहार राज्य में मैथिली भाषा को राज्यभाषा के रूप में स्वीकारने की मांग की गई.

रविवार की देर शाम शुरू हुये समारोह में विधायक सरावगी ने बिहार के सभी विश्वविद्यालयों में मैथिली की पढ़ाई शुरू करने की बात पर बल देते हुए कहा कि मैथिली, बिहार की एकमात्र ऐसी भाषा है, जिसे संविधान के अष्टम अनुसूची में शामिल होने का गौरव प्राप्त है.

उन्होंने मैथिली भाषा के उत्थान के लिये हर मिथिलावासी को जागरूक रहने की अपील करते हुए कहा कि अपनी मातृृभाषा को समृद्ध बनाने के लिए सभी मैथिल भाषियों को तन-मन-धन से आगे आना चाहिए.

समारोह में कामेश्वर सिंह संस्कृत विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डाॅ. देवनारायण झा ने मिथिला और मैथिली के संबंध में अनेक दृष्टांतों का जिक्र करते हुए मैथिली को सबसे पुरानी समृद्ध भाषा और मिथिला को पुरातन क्षेत्र करार दिया. उन्होंने कहा कि झारखंड में मैथिली दूसरी राजभाषा के रूप में कायम हो चुकी है.

लेकिन बिहार में अभी तक इसके लिए सार्थक पहल न किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है. पूर्व कुलपति डॉ. उपेन्द्र झा ने जनप्रतिनिधियों से अपील की कि राजनीति से ऊपर उठकर मैथिली को बिहार की पहली राजभाषा बनाने के लिए कमर कसकर आगे आएं.

समारोह में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट योगदान के लिए यूपीएससी की परीक्षा में मैथिली विषय के साथ सफलता हासिल करने वाले बसहा गामवासी शिवाशीष कुमार, मैथिली साहित्य के लिए फूलचन्द्र झा प्रवीण आदि को मिथिला विभूति से सम्मानित किया गया. समारोह में चिकित्सा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने के लिए दरभंगा चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल के वरिष्ठ शल्य चिकित्सक डाॅ. विजय शंकर प्रसाद को डाॅ. गणपति मिश्र चिकित्सा सम्मान से नवाजा गया.

जबकि संस्था के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए कांवर पथ स्थित वैदेही धर्मशाला के संस्थापक संस्था वैदेही सेवा मंच, कोलकाता को सम्मानित किया गया. उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता पूर्व विधान पार्षद डॉ. विनोद कुमार चौधरी ने किया. इससे पहले विद्यापति सेवा संस्थान के महासचिव डॉ. बैद्यनाथ चौधरी बैजू ने अतिथियों का स्वागत किया. इस मौके पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किये गये.

हिन्दुस्थान समाचार/मनोज

Leave a Reply