दिल्ली हिंसाः Safoora Zargar को मिली जमानत, दिल्ली छोड़ने की इजाजत नहीं

Safoora Zargar
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

दिल्ली हिंसा की आरोपी जामिया छात्रा सफूरा जरगर को दिल्ली हाई कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. दिल्ली हाई कोर्ट ने सफूरा को सशर्त जमानत दे दी है. अदालत ने ये जमानत दिल्ली हिंसा से जुड़े एक मामले में दी है.

जमानत देते समय अदालत ने सफूरा को निर्देश दिया कि वे ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं होंगी, जिससे जांच में बाधा आए. इसके अलावा अदालत ने सफूरा को लगातार जांच अधिकारी के संपर्क में रहने का आदेश दिया है.

कोर्ट के आदेश के मुताहिक सफूरा को हर 15 दिन में एक बार जांच अधिकारी को फोन करके अपनी जानकारी देनी होगी. इसके साथ ही अदालत ने सफूरा को दिल्ली छोड़कर जाने से मना किया है, और यदि कहीं जाना है तो पहले जांच अधिकारी से इसकी इजाजत लेनी होगी.

इससे पहले कल (सोमवार को) हुई सुनवाई में दिल्ली पुलिस की ओर से सफूरा को जमानत देने का कड़ा विरोध किया गया था. दिल्ली पुलिस ने दिल्ली हाई कोर्ट में दाखिल जवाब में कहा था कि गर्भवती होने की वजह से सफूरा जमानत की हकदार नहीं हो सकती.

दिल्ली पुलिस ने कहा था कि सफूरा के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं. दिल्ली पुलिस ने अदालत से कहा था कि प्रेग्नेंसी के मद्देनजर जेल में नियमों के मुताबिक उसे जरूरी मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं. पिछले 10 साल में जेल में 30 डिलीवरी हो चुकी है. नियमों के मुताबिक गर्भवती कैदियों का जेल में पर्याप्त ध्यान रखा जाता है.