Delhi Riots: नुकसान का आंकलन करने को जस्टिस सुनील गौर क्लेम कमिश्नर नियुक्त

Delhi Riots
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

दिल्ली हाईकोर्ट ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों के दौरान हुए नुकसान और उसकी भरपाई के लिए दिल्ली हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज जस्टिस सुनील गौर को ‘क्लेम कमिश्नर’ नियुक्त किया है. जस्टिस सुनील गौर की नियुक्ति छह महीने के लिए हुई है.

जस्टिस सुनील गौर बतौर क्लेम कमिश्नर उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों के दौरान हुए निजी और सरकारी संपत्ति के नुकसान का आकलन करेंगे. इसी आकलन के आधार पर जस्टिस सुनील गौर हर्जाने की वसूली के लिए कार्यवाही करेंगे. जस्टिस सुनील गौर को सिटिंग हाईकोर्ट जज के बराबर सभी सुविधाएं दी जाएंगी.

क्लेम कमिश्नर की नियुक्ति के लिए दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस डीएन पटेल से आग्रह किया था. उसके बाद चीफ जस्टिस ने जस्टिस सुनील गौर की नियुक्ति की गई. इस नियुक्ति पर दिल्ली सरकार के गृह मंत्रालय ने अपनी मुहर लगा दी है और इस आशय से संबंधित अधिसूचना जारी की है.

350 पन्नों की चार्जशीट दाखिल

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों के मामले में दिल्ली पुलिस ने कड़कड़डूमा कोर्ट में चार्जशीट दाखिल किया है. 350 पन्नों की इस चार्जशीट में एक पुलिसवाले पर रिवाल्वर तानने वाले शाहरुख पठान के अलावा कलीम अहमद और इश्तियाक मलिक का नाम शामिल है. शाहरुख को उत्तर प्रदेश के शामली से गिरफ्तार किया गया था.

बता दें कि दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट से दंगों के दौरान हुए नुकसान की भरपाई के लिए क्लेम कमिश्नर नियुक्त करने की मांग की थी. यूपी सरकार ने पहले ही हिंसा के दौरान हुए नुकसान की भरपाई के लिए क्लेम कमिश्नर नियुक्ति कर चुकी है.

उत्तर-पूर्वी दिल्ली में फरवरी महीने में हुए दंगों में घरों, दुकानों, दफ्तरों, स्कूल, अस्पताल, बसें और पेट्रोप पंपों को आग के हवाले कर दिया गया था. इन दंगों को लेकर करीब 750 से ज्यादा एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/संजय