बड़ी कंपनी में काम करने वाली बहन जब फंस गई जीबी रोड पर, तब भाई को बचाने के लिए बनना पड़ा ग्राहक

नई दिल्ली.आज के समय में एक अच्छी जॉब ये कौन नहीं चाहता है. आज के समय में शायद ही कोई ऐसा होगा जो बड़े से शहर में एक अच्छी -सी जॉब नहीं पाना चाहता होगा.क्योंकि हमे पता है कि अगर हमे अपना कल सवारना है तो हमे आज अच्छी जॉब करनी ही होगी.लेकिन यहीं सोचना एक लड़की को भारी पड़ा है. दरअसल कोलकाता की एक बड़ी कंपनी में काम करने वाली युवती को अच्छी नौकरी का झांसा देकर दिल्ली बुलाया गया. जब वो दिल्ली आई तो उसे बेच दिया गया.

रानी (बदला हुआ नाम) कोलकाता की एक बड़ी कंपनी में काम करती थी. एक दिन रानी को एक शख्स का कॉल आता है और वो कॉल पर उसे अच्छी नौकरी के लिए दिल्ली आने को कहता है. वो अपने कैरियर को बेहतर करने के लिए उसकी बात मानकर दिल्ली आ जाती है.

रानी दिल्ली तो आ जाती है.लेकिन उसके साथ यहां पर जो होता है .उसने उसके बारे में रानी के साथ हुआ उसके बारे में शायद उसने काफी सपने में भी नहीं सोचा होगा.दरअसल दिल्ली बुलाने के बाद उसे कोठे पर बेच दिया गया.

बहन को बचाने के लिए खुद बना ग्राहक-

रानी को दिल्ली आए हुए करीब दो महीने हो जाते हैं.लेकिन वो न ही अपने घरवालों का कोई फोन करती है और न ही उनका फोन उठाती है.कुछ दिन बाद रानी का फोन बंद हो जाता है. घरवालों के काफी कोशिश करने के बाद भी वो रानी से किसी तरह का कोई संपर्क नहीं कर पाए.इसके बाद उन्हें रानी की फिक्र होने लगी. इसके बाद परिवार वालों ने कोलकाता में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाकर लड़की की तलाश शुरू कर दी. लेकिन रानी का पता लगा पाने में कोई कामयाबी हासिल नही हुई.

रिपोर्ट लिखवाने के कुछ दिनों बाद एक अनजान शख्स का कॉल पीड़िता के भाई को आता. कॉल पर शख्स ने बताया कि उसकी बहन दिल्ली के जीबी रोड स्थित एक कोठे में है.ये सुनकर रानी का भाई चौक जाता है.उसे समझ नहीं आता वो क्या करें.इसके बाद वो तुरंत दिल्ली आता है.

महिला आयोग और दिल्ली पुलिस ने की मदद-

दिल्ली आने के बाद रानी का भाई करोलबाग में उस शख्स से मिलता है जिसने उसे कॉल किया था.वह आदमी भी बंगाली था और उसने बताया कि वो एक ग्राहक के तौर पर जीबी रोड पर गया था.जहां उसकी बहन ने उसे वहां से निकालने के लिए विनती की और अपने भाई तक बात पहुंचाने के लिए भाई का फोन नंबर दिया.

ये सारी बातें सुनने के बाद रानी का भाई अपनी बहन से मिलने के लिए खुद ग्राहक बनकर जीबी रोड के कोठे पर गया और वहां उसने देखा कि उसकी बहन को देह व्यापा में धकेल दिया गया है.वह किसी तरह रानी से बात करने में सफल रहा.

कोठा नंबर 68 में बेचा गया-

अपनी बहन से मिलने के बाद पीड़िता ते भाई ने तुरंत दिल्ली महिला आयोग से संपर्क किया और पूरी घटना को बताया.जिसके बाद दिल्ली महिला आयोग की सदस्य किरण नेगी ने तुरंत एक टीम का गठन किया और उन्हें लड़की के भाई के साथ जीबी रोड भेजा.आयोग की टीम दिल्ली पुलिस के साथ कोठा नंबर 68 पर गई जहां से लड़की को रेस्क्यू कर लिया गया.

Leave a Reply