JNU Violence: क्राइम ब्रांच ने पूर्व प्रेसीडेंट गीता कुमारी सहित 5 अन्य से की पूछताछ

  • वहीं कहा कि उनकी उपस्थिति का मतलब मारपीट की घटना को अंजाम देने वालों के साथ जोड़कर देखने का कोई मतलब ही नहीं है
  • दरअसल यह आरोप है कि वीडियों में दिखाई दे रहे प्रदर्शनकारी अपने साथियों के साथ अचानक ही मौके पर पहुंचे और उन्होंने तोड़फोड़ व मारपीट शुरू कर दी थी

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में हुई हिंसा मामले की जांच में जुटी क्राइम ब्रांच की SIT ने पूर्व प्रेसीडेंट गीता कुमारी सहित 5 अन्य छात्रों से पूछताछ की. इस दौरान यह इन पांचों की उपस्थिति के बारे में पूछा गया और इसका कारण की जानकारी मांगी गई. 

वहीं एसआईटी ने घटना के दौरान घायल हुए 7 पीड़ितों के बयान भी दर्ज किए. उधर एक चैनल द्वारा किए गए स्टिंग ऑपरेशन में सामने आई छात्रा ने अपनी उपस्थिति की बात से साफ इंकार कर दिया. उसने कहा कि वीडियो में जो चेक शर्ट पहने हुए छात्रा दिखाई दे रही है, उससे उसका कोई लेना देना नहीं है. इसके लिए उसने पुलिस को बकायदा चिट्ठी भी लिख दी.

पूर्व प्रेसीडेंट ने क्या कहा?

एसआईटी की मानें तो पूर्व प्रेसीडेंट गीता कुमारी ने पुलिस द्वारा दिखाए दिए वीडियो व तस्वीर को देखकर घटनास्थल पर अपनी मौजूदगी की बात तो स्वीकार की है, लेकिन मरपीट व तोड़फोड़ जैसी घटना में शामिल होने से साफ इंकार किया. 

वहीं कहा कि उनकी उपस्थिति का मतलब मारपीट की घटना को अंजाम देने वालों के साथ जोड़कर देखने का कोई मतलब ही नहीं है. वहीं पुलिस ने वीडियो में दिखाई दिए कुछ अन्य लोगों से भी पूछताछ की और उनके बयानों के आधार पर पीड़ितों के बयान से क्रॉसचेक किया. दअरसल अन्य चारों ने भी मारपीट जैसी घटना में शामिल होने से इंकार किया है. जबकि पीड़ितों ने कुछ पर मारपीट करने का आरोप लगाया है.  

शनिवार को 4 अन्य से होगी पूछताछ

मामले की जांच कर रही एसआईटी के वरिष्ठ अधिकारियों ने यह बताया कि शनिवार को चार अन्य छात्रों से पूछताछ होगी. इन चारों को शनिवार को बुलाया गया है. इस बार पूछताछ के साथ ही इनसे अन्य आरोपियों की भी पहचान कराई जाएगी. इसके लिए पुलिस ने वीडियो व तस्वीरों में मौजूद प्रदर्शनकारियों की अलग क्लीपिंग तैयार की है. 

दरअसल यह आरोप है कि वीडियों में दिखाई दे रहे प्रदर्शनकारी अपने साथियों के साथ अचानक ही मौके पर पहुंचे और उन्होंने तोड़फोड़ व मारपीट शुरू कर दी थी. बहरहाल वीडियो में दिखाई देने वाले आरोपियों से एसआईटी की टीम पूछताछ कर यह पता लगाने में जुटी ही है कि घटनाक्रम में किन-किन लोगों का हाथ था और किसकी क्या भूमिका थी.

हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा 

Also Read: JNU Violence | Aaj Ki Taja Khabar

Leave a Reply

%d bloggers like this: