गार्गी कॉलेज छेड़छाड़ मामला: CBI जांच की मांग वाली याचिका पर 17 फरवरी को सुनवाई

Gargi College Molestation Case
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

गार्गी कॉलेज में छात्राओं के साथ पिछले दिनों हुए दुर्व्यवहार की केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) से जांच कराने वाली मांग करने वाली याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट 17 फरवरी को सुनवाई करेगा. याचिका में इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की मांग की गई है.

याचिका वकील मनोहरलाल शर्मा ने दायर की है. पिछले 13 फरवरी को मनोहरलाल शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में इस याचिका पर सुनवाई की मांग की थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट जाने को कहा था. इसके बाद मनोहरलाल शर्मा ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की.

याचिका में कहा गया है कि 6 फरवरी को कॉलेज में आयोजित फेस्ट के दौरान बाहर के कुछ शरारती तत्व घुस गए और उन्होंने छात्राओं से छेड़खानी की. कई आरोपितों ने तो कॉलेज के बाहर मेट्रो स्टेशन तक गार्गी कॉलेज की छात्राओं का पीछा किया. 

छात्राओं ने इसकी शिकायत कॉलेज प्रशासन और पुलिस से भी की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. इस मामले में दिल्ली पुलिस ने भी एफआईआर दर्ज की है. याचिका में कहा गया है कि घटना के दिन गार्गी कॉलेज में पुलिस बल की तैनाती की गई थी. 

उसके बावजूद कुछ लोग घुस गए और छात्राओं के साथ अभद्रता करने लगे. इस घटना के पीछे सुनियोजित आपराधिक और राजनीतिक साजिश नजर आती है. इसलिए इस मामले की कोर्ट की निगरानी में जांच होनी चाहिए. याचिका में गार्गी कॉलेज के अंदर और बाहर के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज के जरिए अपराधियों को गिरफ्तार कर उन्हें सजा देने की मांग की गई है.

दूसरी तरफ पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर शुरुआती जांच और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर अब तक 12 युवकों को गिरफ्तार किया है. ये सभी 18 से 25 साल के बीच के हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/संजय