दिल्ली: होम क्वारंटीन में रहने वाले खुद जांच सकेंगे ऑक्सीजन लेवल, एक फोन पर दिल्ली सरकार देगी ये सुविधा

Arvind Kejriwal
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Cm Arvind Kejriwal) ने आज प्रेस कॉफ्रेंस की. सीएम केजरीवाल ने कहा कि राज्य में कोरोना के एक्टिव केस (Active case) 25 हजार हैं. सरकार इससे निबटने के लिए पूरी कोशिश कर रही है.

टेस्टिंग की संख्या बढ़ाकर की तीन गुना– सीएम अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि दिल्ली (Delhi) में हालात स्थिर हैं. यहां रोज़ाना 18 हजार लोगों का कोरोना टेस्ट हो रहा है. हमने दिल्ली में टेस्टिंग की संख्या बढ़ाकर तीन गुना कर दी है. उन्होंने कहा कि जितने लोग यहां ठीक हो रहे हैं, उतने ही लोग बीमार भी हो रहे हैं.

सरकार कराएगी आसानी से ऑक्सीजन उपलब्ध- दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सूबे में बढ़ते कोरोना के मरीजों को तुरंत इलाज मिले इसे लेकर सरकार पूरी तरह से जुटी हुई है. सीएम ने कहा कि मरीजों की मदद के लिए राज्य सरकार ने आसानी से ऑक्सीजन उपलब्ध कराने का फैसला किया है.

जरुरतमंद मरीजों को दिया जाएगा ऑक्सीजन पल्स मीटर – उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में कोरोना मरीजों को अब ऑक्सीजन पल्स मीटर भी दिया जाएगा. सीएम ने भरोसा दिलाया कि जरूरतमंद मरीजों को सिर्फ एक फोन कॉल पर ऑक्‍सीजन की सुविधा मुहैया कराई जाएगी. आक्सीजन रेट कम होते ही मरीज जिला प्रशासन से संपर्क करेंगे. इसके बाद जिला प्रशासन तुरंत घर पर ऑक्सीजन सिलिंडर भेजेगा, जरूरत होने पर मरीज को अस्पताल में शिफ्ट किया जाएगा.

हमने युद्द स्तर पर किया बेड का इंतजाम- साथ ही सीएम ने कहा कि 6 हजार कोरोना संक्रमित अस्‍पतालों में भर्ती हैं, जबकि 12 हजार का घर के अंदर ही इलाज चल रहा है. केजरीवाल ने कहा कि आज जहां 6,200 बेड भरे हुए हैं वहीं 7,000 बेड खाली हैं. बीच में थोड़ी-सी बेड की मारामारी हुई थी, लेकिन हमने युद्ध स्तर पर सारे अस्पतालों से बात करके बेड का इंतजाम किया है.

लैब्स टेस्टिंग में गड़बड़ियों की हो रही है जांच- उन्होंने कहा कि कुछ लैब्स टेस्टिंग में गड़बड़ियां कर रही थीं. उन पर कार्रवाई की गई है. साथ ही एन्टीजन टेस्ट भी केंद्र की मदद से शुरू किए गए हैं.

हम दोनों युद्ध जीतेंगे- सीएम ने कहा कि आज हम चीन (China) के खिलाफ दो युद्ध लड़ रहे हैं-भारत-चीन बॉर्डर पर और चीन से आए वायरस के खिलाफ. हमारे 20 वीर जवान पीछे नहीं हटे. हम भी पीछे नहीं हटेंगे और दोनों युद्ध जीतेंगे. वायरस के खिलाफ डॉक्टर और नर्स लड़ रहे हैं और सीमा पर सैनिक लड़ रहे हैं. दोनों युद्ध को हमें मिलकर लड़ना है