राज्यसभा में रक्षामंत्री ने चीन के साथ विवाद की जानकारी दी

Rajnath Singh
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

संसद के मानसून सत्र का आज (गुरुवार को) चौथा दिन है. एलएसी पर जारी तनाव को लेकर आज रक्षामंत्री राजनाथ सिंह राज्य सभा में स्थिति की जानकारी दे रहे हैं. इससे पहले उन्होंने मंगलवार को लोकसभा में इस विषय की जानकारी दी थी.

राज्यसभा में राक्षामंत्री ने चीन पर जमकर हमला किया. उन्होंने कहा कि चीन LAC की स्थिति को परिवर्तित करने की कोशिश कर रहा है. रक्षामंत्री ने कहा कि हमारे जवान चीन की चाल को पहले से ही समझ गए थे. और चीनी सैनिकों को मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं.

राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में कहा कि 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में हमारे 20 जवान शहीद हुए. उन्होंने कहा कि इस घटना में हमारे सैनिकों ने भी चीन को काफी छति पहुंचाई है. देश को अपने सैनिकों पर गर्व है. रक्षामंत्री ने कहा कि इस घटना के बाद प्रधानमंत्री ने लद्दाख में जाकर जवानों का हौसला बढ़ाया.

उन्होंने कहा कि चीन केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में लगभग 38 हजार वर्ग किलोमीटर पर अवैध कब्जा करने की कोशिश कर रहा है. इसके अलावा साल 1963 के तथाकथित चीन-पाकिस्तान ‘सीमा समझौते’ के तहत, पाकिस्तान ने अवैध रूप से भारतीय क्षेत्र में PoK से चीन तक एक लाख 80 हजार वर्ग किमी को सीज किया. 

रक्षामंत्री ने कहा कि चीन अरुणाचल प्रदेश में भारत-चीन सीमा के पूर्वी क्षेत्र में भारतीय क्षेत्र के लगभग 90 हजार वर्ग किलोमीटर पर भी अपना दावा करता है. उन्होंने कहा कि चीन द्वारा की गई कार्रवाई हमारे विभिन्न द्विपक्षीय समझौतों की अवहेलना है. उन्होंने कहा कि हमारी सेना LAC का पूरा सम्मान करती है. और कड़ाई के साथ इसका पालन करा रही है.

उन्होंने कहा कि बॉर्डर पर तनाव रहेगा तो द्विपक्षीय रिश्तों पर असर आएगा. उन्होंने कहा कि दोनों देश इस मामले को शांति से बातचीत के जरिए सुलझाना चाहता हैं. और इसके लिए दोनों देशों के बीच शांति बहाल करने के लिए कई समझौते हुए हैं.