महाराष्ट्र में ‘निसर्ग’ का तांडव, अगले कई घंटे होगी भारी बारिश, बांद्रा-वर्ली सी लिंक पर ट्रैफिक बंद

नई दिल्ली. चक्रवात निसर्ग (Nisarga) के महाराष्ट्र (Maharashtra) के तटीय इलाकों से टकराने के बाद बुधवार की दोपहर को तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हो रही है. मौसम विभाग के अनुसार, ये प्रकिया अगले तीन घंटों तक चलेगी.

चक्रवात निसर्ग दोपहर 1 बजे मुंबई के रायगड़ (Raigarh0 जिले से टकराया. इसके बाद इलाके कई घरों की छतों को नुकसान पहुंचा और बिजली के खंभे उखड़ गए.

लैंडफॉल (LandFall) के बाद मुंबई पुलिस ने बांद्रा-वर्ली समुद्री लिंक (Bandra Sea Link) पर वाहनों की आवाजाही रोक दी है तो वहीं एनडीआरएफ डीजी ने लोगों को सलाह दी कि वे कम से कम छह या सात घंटे बाहर न निकलें. इसी के साथ रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, अलीबाग सहित कई इलाकों में तेज बारिश और हवाएं चल रही हैं.

राज्य में एनडीआरएफ (NDRF) की 21 टीमें तैनात हैं और करीब एक लाख लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया है. निसर्ग की वजह से महाराष्ट्र के तटीय इलाकों में बारिश हो रही है. तेज हवाओं के चलने की वजह से कई इलाकों में पेड़ गिर गए है.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Cm Maharashtra0 ने चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ के मद्देनजर क्या करें और क्या न करें की सूची बुधवार को जारी की. ठाकरे ने कहा कि चक्रवाती तूफान को देखते हुए लोगों को बचाकर निकालने के वास्ते राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के 10 दलों को राज्य के तटवर्ती क्षेत्रों में तैनात किया गया है.

तूफान ‘निसर्ग’ के राज्य में पहुंचने से पहले गुजरात (Gujarat) के वलसाड और नवसारी जिलों के तटीय इलाकों में रहने वाले करीब 43 हजार लोगों को वहां से हटा कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: