मणिपुर में हिंसा के चलते लगा कर्फ्यू, इंटरनेट सेवा बंद


नागरिकता संशोधन विधेयक-2016 के विरूद्ध जारी विरोध प्रदर्शनों के बीच विभिन्न संगठनों द्वारा आहूत बंद के दौरान फैली हिंसा को देखते हुए प्रशासन ने मंगलवार को मणिपुर के इंफाल पश्चिम और पूर्वी जिलों में अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगा दिया.

कर्फ्यू का आदेश सोमवार की रात को ही इंफाल पश्चिम के उपायुक्त एन प्रवीण सिंह और इंफाल पूर्व के उपायुक्त चित्रा देवी द्वारा जारी किए गए थे. प्रशासन ने इस दौरान स्थानीय टीवी चैनलों को हिंसा भड़कने वाले किसी भी रिपोर्ट या चित्र को प्रसारित न करने का आह्वान किया है.

प्रशासन ने आशंका जताई है कि इस तरह की रिपोर्टिंग से राजधानी में कानून और व्यवस्था की स्थिति बिगड़ सकती है. बंद समर्थक सड़क पर टायर जलाकर वाहनों की आवाजाही को ठप कर दिया है.

विधेयक का विरोध करने वाले संगठनों ने 36 घंटे के मणिपुर बंद का आह्वान किया है. बंद के दौरान दुकानें, व्यापारिक प्रतिष्ठान और कार्यालय पूरी तरह से बंद हैं. पुलिस की टीमें लाउड स्पीकर का इस्तेमाल कर शहर में घूम-घूमकर लोगों को अपने घरों में रहने की चेतावनी दे रही है.

सूत्रों ने बताया है कि कानून व्यवस्था में खलल न पड़े, इसको देखते हुए इंटरनेट सेवा पर भी रोक लगा दी है. विधेयक को लेकर राज्य में पिछले कई दिनों से भारी विरोध प्रदर्शन हो रहा है. इस मुद्दे पर राज्य में सबसे पहले आंदोलन नार्थ ईस्ट स्टूडेंट यूनियन (नेसो) के आह्वान पर किया गया.

हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद

%d bloggers like this: