कर्नाटक-Congress-JDS सरकार पर मंडरा रहे खतरे के बादल
  • आंकडों की बात करें तो अगर इन विधायकों का इस्तीफा मंजूर होता है तो सत्तारूढ़ दल अल्पमत में होगी
  • कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों के इस्तीफा सौंपने के बाद गठबंधन की सरकार का स्थिर रहना मुश्किल लग रहा है

कर्नाटक में लंबे समय से चला आ रहा सत्ता का संकट लगातार गहराता जा रहा है. कांग्रेस-जेडीएस (JDS) के 13 विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष को अपना इस्तीफा सौंपा है. वहीं राज्य में सीएम एचडी कुमारस्वामी (Kumaraswamy) के नेतृत्व वाली सरकार पर अब खतरे के बादल मंडराने लगे हैं.

अगर इन विधायकों का इस्तीफा हो जाता है तो गठबंधन वाली कुमारस्वामी (Kumaraswamy) की सरकार गिर सकती है. हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. यदि ऐसा होता है तो सरकार अल्पमत में आ जाएगी.

आंकडों की बात करें तो अगर इन विधायकों का इस्तीफा मंजूर होता है तो सत्तारूढ़ दल अल्पमत में होगी. सत्तारूढ़ दल के अभी विधानसभा में 118 विधायक है, जबकि सदन की कुल संख्या 224 सदस्यों की है. वहीं बीजेपी के पास कुल 105 विधायक हैं.

सत्ता पर संकट

कांग्रेस और जेडीएस के विधायकों के इस्तीफा सौंपने के बाद गठबंधन की सरकार का स्थिर रहना मुश्किल लग रहा है. इससे पहले विधायकों ने विधानसभा स्पीकर को इस्तीफे सौंपे और बाद में राज्यपाल से भी मुलाकात की. दरअसल हाल ही में लोकसभा चुनावों में बीजेपी के शानदार प्रदर्शन के बाद से ये संकट गहराता जा रहा है.

ऐसे में लंबे समय से CM एचडी कुमारस्वामी सरकार पर चले आ रहे संकट ने अब दिलचस्प मोड़ ले लिया है. अगर सरकार के समर्थन वाले विधायक इस्तीफा देते हैं तो कुमारस्वामी सरकार खतरे में पड़ जाएगी.

ऐसे में बीजेपी के लिए रास्ता आसान हो जाएगा. स्पीकर के पास पहुंचे कांग्रेस विधायक रामालिंगा रेड्डी ने इस बात की पुष्टि की है कि वो इस्तीफा देने ही पहुंचे हैं.

कर्नाटक में सरकार बने अभी एक साल भी पूरे नहीं हुए हैं और सरकार पर संकट के बादल मंडराने लगे हैं. कांग्रेस के विजयनगर विधायक आनंद सिंह और गोकके विधायक राजेश जरकीहोली ने अपनी विधानसभा की सदस्यता से पहले ही इस्तीफा दे दिया था.

इन दो इस्तीफों के बाद कर्नाटक (Karnataka) में कांग्रेस के अब 77 विधायक बचे थे जबकि जेडीएस के पास 37 विधायक बचे हैं.

Trending Tags- Congress-JDS | Hindi Samachar | Political News

%d bloggers like this: