जेट के बाद इंडिगो पर गहराया संकट, ये है वजह

  • गंगवाल ने यह भी कहा है कि बोर्ड शेयरधारकों की जनरल मीटिंग (ईजीएम) तक नहीं हो रही है
  • सेबी को भेजे गए पत्र में विमानन कंपनी के प्रवर्तक गंगवाल ने इंगित किया है

नई दिल्ली. इंडिगो में कथित अनियमितताओं को लेकर एक प्रवर्तक ने बाजार नियामक सेबी से शिकायत की थी. सेबी ने इंडिगो बोर्ड के दोनों प्रवर्तकों राहुल भाटिया और राकेश गंगवाल के बीच पनपे विवाद व मतभेद के बाद एयरलाइन की सूचीबद्ध मूल कंपनी इंटरग्लोब एविएशन से 19 जुलाई तक इस संदर्भ में विवरण देने को कहा है.

कंपनी की गुहार

इंटरग्लोब एविएशन की ओऱ से मंगलवार को शेयर बाजार प्राधिकारी बीएसई और एनएसई को जानकारी दी गई है कि उसके एक प्रवर्तक राकेश गंगवाल ने शिकायतों के निपटारे के लिए केंद्रीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) से हस्तक्षेप करने की गुहार लगाई है.

शेयरों में भारी गिरावट-

कंपनी प्रवर्तकों के बीच मतभेद की खबरों के बाद मंगलवार को विमानन कंपनी के शेयर्स में -4.75 अंक या -0.30 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. इंडिगो के शेयर्स 1,566.30 रुपये तक लुढ़क गए हैं। इंडिगो देश की सबसे बड़ी एयरलाइन है. उल्लेखनीय है कि तीसरे पक्ष से जुड़े कुछ लेन-देन को लेकर राकेश गंगवाल और राहुल भाटिया के बीच मतभेद की खबरें उछल रही हैं.

सेबी को भेजा पत्र-

सेबी को भेजे गए पत्र में विमानन कंपनी के प्रवर्तक गंगवाल ने इंगित किया है कि इंडिगो में कॉर्पोरेट प्रशासन मानकों का पालन नहीं हो रहा है. सेबी की ओर से निर्धारित विभिन्न कॉर्पोरेट प्रशासनिक नियमों का उल्लंघन के साथ ही कंपनी के निदेशक और वरिष्ठ प्रबंधन की ओऱ से भी आचार संहिता का उल्लंघन हो रहा है.

शेयरधारकों की जनरल मीटिंग

गंगवाल ने यह भी कहा है कि बोर्ड शेयरधारकों की जनरल मीटिंग (ईजीएम) तक नहीं हो रही है. कंपनी के लगभग 37 प्रतिशत शेयरधारकों और लाभार्थियों ने ईजीएम की मांग की थी, लेकिन कोई सहयोग नहीं मिल रहा. बुनियादी प्रशासकीय प्रोटोकॉल और कानूनों का पालन किए बिना ही कई महत्वपूर्ण मामलों पर बोर्ड के फैसले और रिजोल्यूशन्स को पारित कर दिया जाता है. सेबी की ओऱ से नामित किए गए अधिकारियों के अधिकार कम किया जा रहा है.


हिन्दुस्थान समाचार/ राधेश्याम

Trending Tags- Indigo | indigo News | flight running status | Rahul Bhatia | Rakesh Gangwal

Leave a Reply