देश की ये बड़ी कंपनी करने जा रही है सैलरी में 15 से 20 फीसदी की कटौती

paise
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के कारण बड़े से बड़े देश को घुटने टेकने पड़े और अपने देश को थामना पड़ा. जिसके कारण आर्थिक गतिविधियां भी रुक सी गई थी. अभी तक लगभग हर देश खुद को संभालने की कोशिश में लगा हुआ है. हर देश की हालात खराब  है.

कोरोना से मची इस तबाही का असर भारत पर भी देखने को मिल रहा है. भारत की इकोनॉमी भी हिल चुकी है. जिसके संभालने की कोशिश सरकार लगातार कर रही हैं. सरकार ने हाल ही में देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का भी ऐलान किया था.

 सरकार के इस कदम के बाद कंपनियां भी खुद को संभालने में लगी हुई हैं. कंपनियों ने अब खुद को संभालने के लिए सैलरी में कटौती करना शुरू कर दिया है.  टाटा सन्स के साथ साथ टाटा ग्रुप की अन्य कंपनियों में सीनियर लेवल पर कर्मचारियों की सैलरी में 15-20 फीसदी कटौती करने की घोषणा की है.  टाटा सन्स टाटा ग्रप की होल्डिंग कंपनी है. सिर्फ टाटा ही नहीं कई और बड़ी कंपनियां भी ये कदम उठाने के बारे में सोच रही हैं.

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक सैलरी में कटौती वाइस प्रेसीडेंट लेवल और उससे बड़े कर्मचारियों की सैलरी में 15-20 फीसदी की कटौती की जाएगी. कटौती बेस सैलरी में की जाएगी. परफॉर्मेंस से संबंधित कम्पोनेंट में कटौती नहीं होगी.

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी से हुए नुकसान की भरपाई के लिए कंपनी ये कदम उठा रही है. टाटा समूह अपने इतिहास में पहली बार टाटा संस के चेयरमैन तथा सहायक कंपनियों के तमाम सीईओ के वेतन में लगभग 20% की कटौती कर रही है.