प. बंगालः स्कूल खोलने को लेकर बंगाल और केंद्र सरकार में तनातनी

Partha Chatterjee
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

कोलकाता, प. बंगाल।

महामारी कोरोना के बीच भी विभिन्न मुद्दों को लेकर केंद्र और राज्य सरकार के बीच तनातनी बरकरार है. अब स्कूल खोलने को लेकर दोनों ही सरकारें आमने-सामने आ गई हैं. अनलॉक- 4.0 के तहत केंद्र सरकार ने 21 सितम्बर से कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए स्कूल खोलने की सशर्त अनुमति दी है.

वहीं राज्य सरकार ने केंद्र का निर्देश मानने से इनकार कर दिया है. बंगाल के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने साफ कह दिया है कि जिस दर से कोरोना का ग्राफ बढ़ रहा है, सितम्बर में राज्य में स्कूल खोलना संभव नहीं है. राज्य के शिक्षामंत्री पार्थ चटर्जी के मुताबिक राज्य सरकार सभी शिक्षण संस्थानों को 30 सितम्बर तक बंद रखने की पहले ही घोषणा कर चुकी है.

उन्होंने कहा कि केंद्र का नया दिशा-निर्देश अब आया है, लेकिन जिस रफ्तार से कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है तो इस स्थिति में स्कूल कैसे खुलेंगे?’ उन्होंने कहा कि हम बच्चों के स्वास्थ्य के बारे में अधिक चिंतित हैं और उनके जीवन को खतरे में डालना नहीं चाहते हैं.

इसलिए परिस्थिति सामान्य होने पर ही स्कूल कॉलेज खुलेंगे. इधर खबर है कि केंद्र सरकार ममता बनर्जी सरकार के इस रवैए से रुष्ट है. इसके पहले संपूर्ण लॉकडाउन लागू नहीं करने का निर्देश भी केंद्र की ओर से आया था लेकिन फिर भी बंगाल सरकार ने सप्ताह के विभिन्न दिनों पर संपूर्ण लॉकडाउन लगाया था.

हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश