Coronavirus संकट के बीच बाजार में आई कोरोना मिठाई

(file photo)
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

कोरोनावायरस से लोगों में इतना डर बना हुआ है कि लोग अपने – अपने घर में रहने को मजबूर हैं. वायरस का कहर इस कदर है कि जिन सड़को पर पैर रखने की जगह नहीं होती थी. वो सड़के आज विरान पड़ी है. कोरोना को लेकर जहां एक ओर सरकार सतर्क है वहीं दूसरी ओर कुछ लोगों को कोरोनावायरस मज़ाक नजर आता है इसका अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि लॉकडाउन लगने के बावजूद लोग बिना वजह सड़को पर आय दिन नजर आते हैं. कुछ लोग कोरोनावायरस को लेकर तरह- तरह से मेमस भी बनाते हैं पर इन्हीं सब खबरों के बीच एक ऐसी खबर सामने आई है जिसे सुनकर हैरानी होती है. ममता के गढ़ कोलकाता में कोरोना नामक मिठाई बनाई गई है.

(file photo)

कोलकाता में बनाई गई कोरोना मिठाई

corona sweet

कोलकाता को मस्ती की नगरी कहते हैं जहां लाख गमों के माहौल में भी लोग यहां खुशियों का बहाना ढूंढ ही लेते हैं. आज जब जानलेवा कोरोना महामारी से पूरी दुनिया डरी सहमी हुई है, तब कोलकाता के एक मिठाई दुकानदार ने कोरोना वायरस जैसी दिखने वाली मिठाई बनाई है और इसे लोगों में मुफ्त में बांट भी रहे हैं. उनका संदेश साफ है कि कोरोना से बहुत अधिक डरने की जरूरत नहीं, इस मिठाई की तरह उसे भी एक दिन हमलोग अपना ग्रास बना लेंगे. यानी कोरोना का यह संकट भी खत्म हो जाएगा.

यह मिठाई खूब सुर्खियों में छाई हुई है. इसे बनाने वाले दुकानदार का नाम रविंद्र कुमार पॉल है. रविंद्र की दुकान कोलकाता के जादवपुर इलाके में है. कुछ दिनों पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कुछ शर्तों के साथ दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक कुछ मिठाई दुकान खोलने की अनुमति दी है. उसके बाद से मिष्ठान प्रेमी मनपसंद मिठाइयां खरीदने से किसी तरह से परहेज नहीं कर रहे हैं. इसी बीच पॉल बाबू की मिठाई दुकान लोगों के लिए खासा आकर्षण का केंद्र बिंदु बन गई है. उन्होंने कोरोना की शक्ल की ना केवल मिठाई बनाई है बल्कि केक भी बनाए हैं. रविवार से उन्होंने इसका वितरण शुरू किया था. सोमवार को भी कुछ लोगों को मुफ्त में दिया गया लेकिन अब इसे खरीदने के लिए लोग पैसे भी दे रहे हैं.