#kathua: साझी राम, दीपक और प्रवेश को उम्रकैद, 3 दोषी पुलिसवालों को 5-5 साल की सजा…

  • आठ साल की बच्ची को कठुआ जिले में बंधक बनाकर किया गया दुष्कर्म
  • सोमवार को पठानकोट की विशेष अदालत ने सात में से 6 आरोपियों को ठहराया दोषी
  • तीन दोषियों को उम्रकैद की सजा, बाकी 3 दोषी पुलिसवालों को 5-5 साल की सजा

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ हुए रेप और हत्या के मामले में पठानकोट की विशेष अदालत ने फैसला आ गया है. इस मामले में तीन को उम्रकैद की सजा सुना गई है. सात में से 6 लोग दोषी साबित हुए हैं. एक आरोपी विशाल को बरी किया गया है.

कठुआ रेप मर्डर केस में कोर्ट ने तीन दोषियों को उम्र कैद की सजा सुनाई है. दीपक खजूरिया प्रवेश कुमार और सांझी राम को उम्र कैद की सजा सुनाई गई है. बाकी तीन दोषियों को तीन साल की सजा दी गई है. एसपीओ सुरेन्द्र कुमार, सब इंस्पेक्टर आनंद दत्ता और हेड कांस्टेबल तिलक राज को पांच-पांच साल की सजा हुई है.

जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले के रसाना में आठ साल की एक बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म और उसके बाद हत्या के मामले में विशेष अदालत सोमवार को फैसला सुनाया गया. सांझी राम, दीपक खजूरिया, प्रवेश दोषी, तिलक राज और आनंद दत्ता आरोपी बनाए गए हैं. देश को हिलाकर रख देने वाले इस मामले में इन कैमरा ट्रायल 3 जून को पूरा हो गया था.

शुरुआत में इस मामले को जम्मू कोर्ट में सुना गया लेकिन बाद में पठानकोट कोर्ट में इसकी सुनवाई हुई जहां पर आज इसका फैसला सुनाया गया. इस फैसले के बाद जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने भी ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा, ”इस फैसले का स्वागत करती हूं.

आरोपियों को दोषी करार दिए जाने के बाद नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्‍दुल्‍लाह ने कहा कि कानून के तहत दोषियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए.

इस फैसले को देखते हुए पठानकोट कोर्ट परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया था. यहां पर एक हज़ार से अधिक पुलिसकर्मियों को मुस्तैद किया गया, साथ ही बम निरोधक दस्ता, दंगा नियंत्रक दस्ता भी यहां पर तैनात रहे.

चार्जशीट में क्या कहा गया?
पंद्रह पन्नों के चार्जशीट के मुताबिक, पिछले साल 10 जनवरी को किडनैप की गई आठ साल की बच्ची को कठुआ जिले के एक गांव में बंधक बनाकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया. उसे चार दिन तक बेहोश रखा गया और बाद में उसकी हत्या कर दी गई.

Leave a Reply

%d bloggers like this: