गोरखपुर-बस्ती मंडल: सिलसिला जारी, 12 घंटे में 11 कोरोना पॉजिटिव

corona rapid test kit
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

गोरखपुर, 02 मई (हि.स.).कोरोना वायरस ने गोरखपुर-बस्ती मंडल के जिलों में कहर बरपाना शुरू कर दिया है.एक क बाद एक कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मिलने का सिलसिला शुरू है.बीते 12 घंटों में मिलने वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है.तकरीबन हर घंटे एक कोरोना पॉजिटिव मिलने से प्रशासन की चिंताएं बढ़ गईं हैं।

गोरखपुर बस्ती मंडल में कोरोना ने कहर दिखाना शुरू कर दिया है.बीते 12 घंटे में 11 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है.ये सभी पॉजिटिव दिल्ली अथवा मुंबई से आए हैं.

गनीमत इस बात का है कि जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इन लोगों को जांच के दौरान संदिग्ध पाने पर घर न भेजकर सीधे अस्पताल भेज दिया था.शुक्रवार को गोरखपुर-बस्ती मंडल में एक के बाद एक कुल 11 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं.

जांच रिपोर्ट से इनकी पुष्टि हो चुकी है.इनमें बस्ती का 01 संतकबीरनगर में 04, सिद्धार्थनगर में 02, गोरखपुर में 03 व देवरिया के 01 मरीज शामिल हैं.

मुंबई से गोरखपुर लौटे एक नेपाली नागरिक के कोरोना पॉजिटिव मिलने के साथ ही यह संख्या बढ़कर 03 हो गई है.एक साथ इतने मरीज पॉजिटिव मिलने से अफरातफरी मच गई है।

तीन साथियों के साथ लौटा था

बताया जा रहा है कि यह नेपाली नागरिक अपने तीन साथियों के साथ बुधवार को मुम्बई से गोरखपुर वापस लौटा था.उसका परिवार बिछिया में रहता है.वहां उसकी तबीयत खराब हुई.उसके साथ नेपाल के ही रहने वाले तीन और साथी भी रहते हैं.चारों ने एंबुलेंस बुक की और बुधवार को गोरखपुर वापस आ आये थे.

पुलिस ने उन्हें सहजनवा में रोक लिया था.इसके बाद उन्हें जिला अस्पताल भेजा गया था तथा 100 बेड टीवी अस्पताल में क्वॉरेंटाइन कर दिया गया था.गुरुवार को उनका सैंपल जांच के लिए आरएमआरसी भेजा गया था.शुक्रवार की देर रात जारी रिपोर्ट में कोरोना की पुष्टि हुई है।

चालक सहित 6 क्वारंटीन

जिला प्रशासन ने मुंबई से लौटे एंबुलेंस को वापस नहीं जाने दिया था.चारों नेपाली नागरिकों के साथ एंबुलेंस के चालक व सहायक को भी क्वॉरेंटाइन किया गया.फिर, उनका सैंपल जांच के लिए भेजा गया था. एक को छोड़कर बाकी सब की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है.स्वास्थ विभाग का मानना है कि दूसरे नेपाली नागरिक भी संक्रमित हो सकते हैं.ऐसे में सबको 14 दिन के लिए क्वारंटीन रखा जाएगा.

हिन्दुस्थान समाचार/आमोद/राजेश