कर्नाटक Congress में हलचल, इन दो विधायकों ने दिया इस्तीफा

कर्नाटक (Karnataka) में एक बार फिर से सियासी संकट सामने आ गया है. और कांग्रेस (Congress) को तगड़ा झटका लगा है. कांग्रेस के दो विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार (KR Ramesh Kumar) को अपना इस्तीफा दे दिया है. इससे एक बार फिर से पार्टी की अंदरुनी बगावत उजागर हो गई है.

बेल्लारी जिले के विजयनगर से कांग्रेस विधायक आनंद सिंह (Anand Singh) ने अपनी विधानसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. इसके अलावा विधायक रमेश जरकिहोली ने भी विधानसभा से इस्तीफा दे दिया है. ऐसे में कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया (siddaramaiah) ने बंगलुरू में अपने आवास पर सभी विधायकों की बैठक बुलाई है.

 दो बार हुए कैबिनेट विस्तार में आनंद सिंह को काफी आशाएं थीं, लेकिन उनको मंत्रिमंडल से बाहर रखा गया. इसको लेकर काफी समय से नाराज चल रहे थे.

गठबंधन पर नहीं पड़ेगा कोई असर- जारकीहोली

वन मंत्री सतीश जारकीहोली (Satish Jarkiholi) ने सोमवार को कहा कि विधायक आनंद सिंह ने शायद जिंदल कम्पनी को भूमि आवंटन मुद्दे के कारण इस्तीफा दिया है. उनका दावा है कि वह कांग्रेस के असंतुष्ट विधायकों के गुट में नहीं थे. 

जारकीहोली ने यह भी कहा कि सिंह के इस्तीफे का कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार पर कोई असर नहीं पड़ेगा. 

सीएम कुमारस्वामी ने बीजेपी पर लगाया आरोप

इस समय मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (HD Kumar Swami) अमेरिका में हैं और वह 8 जुलाई को राज्य वापस आएंगे. हालांकि इसके बाद भी वे हालातों पर नजर बनाए हुए हैं. इस घटना पर एक ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा कि स्वामीजी के तत्वावधान में न्यूजर्सी में कालभैरवेश्वर मंदिर की नींव रखी जा रही है. मैं यहां से पूरे घटनाक्रम पर नजर रख रहा हूं. बीजेपी सरकार को अस्थिर करने का दिवा-स्वप्न देख रही है.

खतरे में है गठबंधन

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार के बाद कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन पर खतरा मंडरा रहा है. कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व पर भरोसा जताया गया था. साथ ही, यह भी कहा गया था कि गठबंधन जारी रहेगा. इस रस्साकशी के बीच कांग्रेस नेता परमेश्वर नेता बीजेपी (BJP) पर कर्नाटक में विधायकों को तोड़कर सरकार को अस्थिर करने का आरोप लगाया था.

बीजेपी ने किया इंकार

बीजेपी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा पहले ही साफ कर चुके हैं कि बीजेपी की ओर से सरकार गिराने की कोई कोशिश नहीं की जाएगी. उन्होंने कहा था कि बीजेपी नेतृत्व ने ऑपरेशन लोटस में शामिल न होने का निर्देश दिया है क्योंकि उनका मानना है कि गठबंधन सरकार खुद ही गिर जाएगी.

Leave a Reply

%d bloggers like this: