‘बस सियासत’ को लेकर अपनी ही पार्टी पर बरसीं कांग्रेस विधायक अदिति सिंह

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश में एक हजार बसों को लेकर शुरू हुई राजनीति में अब एक नया मोड़ आ गया है. इस राजनीति में अब कांग्रेस को अपनों ने ही घेर लिया है. कांग्रेस की बेहद नजदीकी मानी जाने वाली अदिति सिंह अब इस मामले में कूद गई हैं.

यूपी में प्रवासी मजदूरों को बसों से घर भेजने मामले में सीएम योगी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी बाड्रा आमने-सामने हैं. इसी बीच रायबरेली से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने अपनी पार्टी को कटघरे में खड़ा कर दिया है. अदिति ने इस निम्न सियासत करार दिया है.

अदिति सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा ‘आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत? एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 आटो रिक्शा व एंबुलेंस जैसी गाड़िया, 68 वाहन बिना कागजातके , ये कैसा क्रुर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र में क्यों नहीं लगाईं.

इसके बाद अगले ट्वीट में अदिति सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की. अदिति ने लिखा- कोटा में जब यूपी के हजारों बच्चे फंसे थे तब कहां थी ये तथाकथित बसें, तब सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए, बार्डर तक नहीं छोड़ पाई, तब सीएम योगी ने रातों रात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया, खुद राजस्थान के सीएम ने भी इसकी तारीफ की थी.

Leave a Reply

%d bloggers like this: