यूपीः कांग्रेस का योगी सरकार पर हमला, कहा- कानून व्यवस्था ध्वस्त हुई

Priyanka Gandhi
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश से अपराध का नामोनिशान मिटाने के लिए यूपी पुलिस को खुली छूट दे रखी है. पिछले कई दशकों से शांत पुलिस की बंदूकें योगी सरकार में खूब गरज रही हैं. लेकिन इसके बाद भी प्रदेश में अपराध में कोई कमी नहीं आ रही है.

नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो यानी एनसीआरबी के मुताबिक देशभर में सबसे ज्यादा अपराधिक मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज होते हैं. एनसीआरबी के डेटा के मुताबिक, 2018 में देशभर में 50 लाख 74 हजार 634 अपराध दर्ज किए गए थे. जिसमें से उत्तर प्रदेश में इस साल 5 लाख 85 हजार 157 क्राइम रिकॉर्ड हुए थे.

इस हिसाब से 2018 में देशभर में जितने भी क्राइम रिकॉर्ड हुए, उसमें से सबसे ज्यादा 11.5% मामले अकेले यूपी में दर्ज हुए थे. इतना ही नहीं रेप-मर्डर जैसे संगीन केसों में यूपी टॉप पर है. बलात्कार, बलात्कार की कोशिश, हत्या, हत्या की कोशिश, चोरी-डकैती, दंगा या हिंसा भड़काना जैसे अपराधों में यूपी टॉप पर है.

कांग्रेस ने साधा निशाना

प्रदेश में अपराध के आंकड़ों को लेकर कांग्रेस ने योगी सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी व गोरखपुर में रेप की घटना और आजमगढ़ में सरपंच की हत्या से स्पष्ट है कि यूपी में कानून व्यवस्था ध्वस्त है. राहुल गांधी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि यूपी में जातीय हिंसा और बलात्कार का जंगलराज चरम पर है. अब एक और भयानक घटना- सरपंच सत्यमेव ने दलित होकर सर्वणों की बात नहीं मानी, तो उनकी हत्या कर दी गयी. सत्यमेव जी के परिवारजनों को संवेदनाएं.

वहीं पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि बुलंदशहर, हापुड़, लखीमपुर खीरी, और अब गोरखपुर. लगातार इस तरह की घटनाओं से ये साबित होता है कि महिलाओं को सुरक्षा देने में उत्तर प्रदेश सरकार पूरी तरह विफल रही है. प्रियंका ने कहा कि अपराधियों के मन में कानून का कोई डर नहीं है. उसी का परिणाम है कि महिलाओं के खिलाफ वीभत्स घटनाएं घटती ही जा रही हैं. उन्होंने कहा कि पुलिस और प्रशासन न तो सुरक्षा दे पा रहे हैं और न ही उचित कार्रवाई कर पा रहे हैं.